VIDEO: राम मंदिर की तर्ज पर बन रहा है अयोध्या रेलवे स्टेशन, मुख्य द्वार पर सजेगा विशाल 'मुकुट'

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने अयोध्या रेलवे स्टेशन के सौंदर्यीकरण के साथ उसे अंतरराष्ट्रीय स्तर का बनाने का एक वीडियो ट्वीट किया है.

VIDEO: राम मंदिर की तर्ज पर बन रहा है अयोध्या रेलवे स्टेशन, मुख्य द्वार पर सजेगा विशाल 'मुकुट'
अयोध्या रेलवे स्टेशन की आंतरिक और बाहरी बनावट में लोगों को अयोध्या की स्वर्णिम संस्कृति की झलक देखने को मिलेगी.

अयोध्या: अयोध्या का नाम आते ही लोगों के मन में भव्य राम मंदिर की तस्वीर अचानक ही कौंध जाती है. बीते कई दशकों से राम मंदिर का मामला कोर्ट में विचाराधीन है. वहीं, इन सबके बीच लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) से पहले मोदी सरकार ने अयोध्या के रेलवे स्टेशन का कायाकल्प करने का मन बना लिया है. दरअसल, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने अयोध्या रेलवे स्टेशन के सौंदर्यीकरण के साथ उसे अंतरराष्ट्रीय स्तर का बनाने का एक वीडियो ट्वीट किया है. वीडियो के अनुसार, रलवे स्टेशन को राम मंदिर की तर्ज पर बनाया जाएगा.

 

 

अयोध्या की विरासत से कराएगा विश्व का परिचय- गोयल
पीयूष गोयल ने ट्वीट करते हुए लिखा है, ''अयोध्या आस्था और संस्कृति का नगर है, यहां के रेलवे स्टेशन को मंदिर की परिकल्पना से संजोया जा रहा है. यह स्टेशन प्रभु श्रीराम से जुड़े इस प्राचीन नगर की विरासत का विश्व को परिचय करायेगा.'' बता दें कि भगवान राम की जन्मस्थली के तौर पर विश्वभर में प्रसिद्ध अयोध्या में रलवे स्टेशन के सौंदर्यीकरण का काम तेजी से चल रहा है. वीडियो में स्टेशन के निर्माण का कार्य देख रहे असिस्टेंट डिवीजनल इंजीनियर रवि विक्रम सिंह बताते हैं कि राम मंदिर की अवधारणा पर ही रेलवे स्टेशन का डिजाइन तैयार किया गया है. 

मुख्य प्रवेश द्वार के ऊपर बनेगा 'मुकुट' का विशाल प्रतिरूप 
वीडियो में सिंह ने कहा है कि नए स्टेशन की इमारत की रूपरेखा के बाहरी ढांचे में और मुख्य प्रवेश द्वार के ऊपर 'मुकुट' के विशाल प्रतिरूप को बनाया जाएगा. इसके साथ ही स्टेशन के चारों कोनों पर मंदिरों के बड़े गुंबद और बीच में छोटे गुंबद बनाए जाएंगे. उन्होंने बताया कि रेलवे स्टेशन के निर्माण का कार्य फरवरी, 2018 से ही शुरू हो चुका है. इस कायाकल्प में 200 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे. उन्होंने बताया कि इस रकम में से 80 करोड़ रुपये स्टेशन के नवनिर्माण पर खर्च किए जाएंगे. 

स्थापत्य कला का दिखेगा अनुपम नमूना
वीडियो के अनुसार, स्टेशन के अगले हिस्से में 27 फीट ऊंचा और 30 फीट चौड़ा बरामदा तैयार किया जाएगा. इस बरामदे के खंभों और छत पर लोग प्राचीन स्थापत्य कला से रूबरू हो सकेंगे. अयोध्या की  सांस्कृतिक धरोहर के अनुसार स्टेशन में तकनीक और स्थापत्य कला का मिश्रण देखने को मिलेगा. स्टेशन पर मुख्य प्रवेश द्वार के अलावा अन्य प्रवेश द्वार भी बनाए जाएंगे. स्टेशन पर आवागमन को बेहतर बनाने के लिए दे ओवरब्रिज का निर्माण कराया जाएगा. कुल मिलाकर अयोध्या रेलवे स्टेशन की आंतरिक और बाहरी बनावट में लोगों को अयोध्या की स्वर्णिम संस्कृति की झलक देखने को मिलेगी.