वामपंथी उग्रवाद पर लगाम लगाने में सभी मंत्रालय मिलकर काम करें: मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आदिवासी क्षेत्रों में वामपंथी उग्रवाद को फैलने से रोकने के लिए मिलकर रणनीति तैयार करने पर जोर देते हुए बुधवार को नव गठित नीति आयोग को भी निर्देश दिया कि वह ऐसे क्षेत्रों की विकास योजनाएं बनाते समय अनुसंधान संस्थानों और प्रतिष्ठित विशेषज्ञों की सेवाएं ले।

वामपंथी उग्रवाद पर लगाम लगाने में सभी मंत्रालय मिलकर काम करें: मोदी

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आदिवासी क्षेत्रों में वामपंथी उग्रवाद को फैलने से रोकने के लिए मिलकर रणनीति तैयार करने पर जोर देते हुए बुधवार को नव गठित नीति आयोग को भी निर्देश दिया कि वह ऐसे क्षेत्रों की विकास योजनाएं बनाते समय अनुसंधान संस्थानों और प्रतिष्ठित विशेषज्ञों की सेवाएं ले।

जनजातीय कल्याण संबंधी एक उच्चस्तरीय समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए उन्होंने कहा कि वामपंथी उग्रवाद को फैलने से रोकने के लिए रणनीति तैयार की जानी चाहिए और इस दिशा में जनजातीय कार्य मंत्रालय अहम भूमिका निभाए। मोदी ने कहा कि वामपंथी उग्रवाद को फैलने से रोकने के लक्ष्य को पाने के लिए भारत सरकार के विभिन्न मंत्रालयों और विभागों को मिलकर काम करना चाहिए। उन्होंने जनजातीय कार्य मंत्रालय को यह निर्देश भी दिया कि वह आदिवासी क्षेत्रों में विकास केन्द्रों की पहचान करे और देश में शिक्षा, स्वास्थ्य तथा खेल सुविधाओं का समुचित विकास सुनिश्चित करे।

प्रधानमंत्री कार्यालय के अनुसार उन्होंने नीति आयोग को भी निर्देश दिया कि जनजातीय क्षेत्रों के लिए योजना बनाने के समय वह प्रासंगिक अनुसंधान संस्थानों और प्रतिष्ठित विशेषज्ञों की सेवाएं भी ले।प्रधानमंत्री ने कहा कि जनजातीय क्षेत्रों में बिजली और मोबाइल फोन जैसे माध्यमों के जरिए ‘प्रौद्योगिकी हस्तक्षेप’ के उद्देश्य के लिए काम किया जाना चाहिए। इसके साथ ही बेहतर बुनियादी ढांचे के जरिए विकसित क्षेत्रों को अविकसित जनजातीय क्षेत्रों से जोड़ने का महत्वपूर्ण लक्ष्य भी पूरा किया जाए। आदिवासियों के स्वास्थ्य के संबंध में उन्होंने इस बात पर खास जोर दिया कि जनजातीय आबादी में व्याप्त सिकेल सेल रक्त-अल्पता का वैज्ञानिक आधार पर अध्ययन किया जाए और संबंधित विभाग इस रोग के इलाज के लिए स्टेम सेल उपचार की संभावनाएं तलाशें।

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.