15 अगस्‍त: PM मोदी कर सकते हैं ये घोषणाएं, कोरोना काल में अलग होगा संबोधन

15 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सातवीं बार देश को लाल किले के प्राचीर से संबोधित करेंगे. 

15 अगस्‍त: PM मोदी कर सकते हैं ये घोषणाएं, कोरोना काल में अलग होगा संबोधन
(फाइल फोटो)

नई दिल्लीः 15 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सातवीं बार देश को लाल किले के प्राचीर से संबोधित करेंगे लेकिन इस बार का संबोधन पिछले हर बार से अलग होगा. क्योंकि Corona काल चल रहा है और देश और पूरा विश्व कई संकटों से गुजर रहा है. हर परिस्थिति में देश को एक नई दिशा देने के लिए दृढ़ संकल्पित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस बार भी राष्ट्र को अपने संबोधन जरिए एक नए युग में ले जाने की भरपूर कोशिश करेंगे. माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संबोधन में पिछले 6 साल के कामकाज का लेखा-जोखा  देंगे. इसके लिए एक महीना पहले से ही तैयारियां अलग-अलग मंत्रालयों से इनपुट लेकर की जा रही थीं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन में राम मंदिर का जिक्र हो सकता है. प्रधानमंत्री देश को बताएंगे कि कैसे सदियों पुराने राम मंदिर विवाद का हल निकला और अब भव्य राम मंदिर निर्माण की दिशा में कदम बढ़ा है.

कश्‍मीर का जिक्र
प्रधानमंत्री के संबोधन में कश्मीर का खास जिक्र हो सकता है. धारा 370 हटाए जाने के बाद कैसे कश्मीर में एक नए युग की शुरुआत हुई है और उनकी सरकार ने जम्मू कश्मीर और लद्दाख के लोगों की आशाओं और आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए, कैसे दृढ़ संकल्पित है. पिछले 1 साल में जम्मू कश्मीर और लद्दाख के लिए उठाए गए कदमों का उल्लेख होगा. एक साल में विकास की योजनाओं को कहा कहा अमल में लाया गया , उस विकास गाथा का भी जिक्र होगा. माना जा रहा है जम्मू और कश्मीर को लेकर कुछ नए ऐलान प्रधानमंत्री की तरफ से किया जा सकता है.

Corona को लेकर प्रधानमंत्री देश को एक बार फिर आश्वस्त करेंगे. अमूमन Corona काल में प्रधानमंत्री ने जब भी राष्ट्र को संबोधित किया है लोगों को भरोसा दिया है कि इससे देश जल्द ही पार पा जाएगा. सरकार द्वारा उठाए गए कदमों का  जिक्र होगा कि कैसे वह सभी मुख्यमंत्रियों से लगातार संपर्क में रहें. कैसे सबके साथ मिल कर लोगों की तकलीफ कम करने की पूरी कोशिश की. प्रधानमंत्री सभी मुख्यमंत्रियों को धन्यवाद भी दे सकते हैं. Corona को लेकर सब की उत्सुकता उसके इलाज और वैक्सीन को लेकर है.

कर सकते हैं बड़ा ऐलान
माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री 15 अगस्त को इसको लेकर बड़ा ऐलान कर सकते हैं. पहले ही खबरें आई थी कि भारत में भी इसका वैक्सीन बनाने की दिशा में लगातार प्रगति हो रही है.  सूत्रों के अनुसार प्रधानमंत्री भारतीय वैक्‍सीन के बाजार में आने और उसके तैयार होने के बारे में कोई पुख्ता जानकारी दे सकते हैं. गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने Corona को लेकर की गई समीक्षा में यह निर्देश दिया था कि जब भी वैक्सीन तैयार हो ,तो उसका इस्तेमाल कैसे कैसे करना है. यानी भारतीय वैक्सीन जल्द बाजार में आएगा इसकी उम्मीद कल प्रधानमंत्री देश को दे सकते हैं.

2014 में जब प्रधानमंत्री ने देश का कार्यभार संभाला था उसके बाद से ही सरकारी नौकरियों में कई तरह के उन्होंने रिफॉर्म किए थे. खासकर रिक्रूटमेंट को लेकर. जैसे कि ग्रुप डी के लिए इंटरव्यू खत्म करना. छात्रों को एप्लीकेशन भरते समय अपने सर्टिफिकेट को खुद ही अटेस्टेड करके देना इत्यादि.

 सूत्रों के अनुसार इस दिशा में प्रधानमंत्री एक बड़े कदम की घोषणा कल कर सकते हैं. National Recruitment Agency  की घोषणा की जा सकती है. यानी राष्ट्रीय स्तर पर होने वाली अलग-अलग विभागों अलग-अलग संस्थाओं के लिए जो परीक्षा होती है अलग-अलग, उसके लिए एक ही एजेंसी को सुपुर्द किया जा सकता है.  चाहे वो बैंक हो ,रेलवे हो या फिर अन्य केंद्रीय स्तर की सरकारी नौकरियों के लिए होने वाली परीक्षाएं. सूत्रों के अनुसार नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी के जरिए होने वाली परीक्षाओं में 3 साल का कैप हो सकता है. यानी कोई भी स्टूडेंट एक बार परीक्षा देगा तो उसके अंक के अनुसार अगले 3 साल तक उसकी बारी आने की संभावना बनी रहेगी और उसे अलग-अलग नौकरियों के लिए अलग-अलग परीक्षाएं देने की जरूरत नहीं पड़ेगी. 

स्वास्थ्य के क्षेत्र में भी प्रधानमंत्री कल एक बड़ा ऐलान कर सकते हैं। देश एक राशन कार्ड का तर्ज पर मोदी सरकार ने एक देश- एक हेल्थ कार्ड की घोषणा कर सकते हैं. इस हेल्थ कार्ड के माध्यम से देश के हर नागरिक का हेल्थ कार्ड बनेगा जिस पर उसकी हेल्थआईडी नंबर लिखा होगा. इसमें उसके स्वास्थ्य संबंधी जानकारियों को डिजीटल फार्मेट में रखा जाएगा. इस डिजीटल हेल्थ कार्ड के जरिए लोग सभी तरह की स्वास्थ्य संबंधित जानकारी एक जगह पा सकेंगे. 

प्रधानमंत्री के भाषण में सीमा सुरक्षा का भी जिक्र होगा. बिना चीन और पाकिस्तान का नाम लिए सीमा की गतिविधियों का जिक्र होगा. राफेल भारतीय वायुसेना को मिला इसका जोशीला उल्लेख होगा. चीन के साथ हुई झड़प में भारतीय सैनिकों की बहादुरी का जिक्र होगा. प्रधानमंत्री देश को यह भी आश्वस्त कर सकेंगे कि भारत की 1 इंच भूमि पर भी कोई आंख उठाकर नहीं देख सकता.