कोरोना इंसान को समाप्त करने की जिद्द पर है, नियम तोड़ने वाले जीवन से खिलवाड़ कर रहे: 'मन की बात' में PM मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'ये लॉकडाउन आपके खुद को बचाने के लिए है. आपको खुद को बचाना है, अपने परिवार को बचाना है. साथियों मैं ये भी जानता हूं कि कोई भी कानून नहीं तोड़ना चाहता, लेकिन कुछ लोग इसका पालन नहीं कर रहे.

कोरोना इंसान को समाप्त करने की जिद्द पर है, नियम तोड़ने वाले जीवन से खिलवाड़ कर रहे: 'मन की बात' में PM मोदी
फाइल फोटो

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) आज 'मन की बात में' कोरोना वायरस (Coronavirus) पर बोलते हुए कहा, 'सबसे पहले मैं देशवासियों से क्षमा मांगता हूं. मुझे कुछ ऐसे निर्णय लेने पड़े हैं, जिसके कारण लोगों को कई कठिनाइयां उठानी पड़ रही हैं. हो सकता है कि कुछ लोग मुझसे नाराज भी होंगे. मैं आपकी परेशानी भी समझता हूं, लेकिन मेरे पास कोरोना के खिलाफ लड़ाई में इसके अलावा कोई और रास्ता नहीं बचा था.'

पीएम मोदी ने कहा, 'दुनिया के हालात को देखने के बाद लगता है कि बस यही एक रास्ता बचा है. आपको जो भी कठिनाई हुई है, उसके लिए क्षमा मांगता हूं. बाद में रोग असाध्य हो जाते हैं. कोरोना वायरस ने दुनिया को कैद कर लिया है. हर किसी को चुनौति दे रहा है. ये वायरस इंसान को समाप्त करने जिद्द उठा बैठा है. इसलिए सबको एकजुट होकर संकल्प लेना ही होगा.'

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'ये लॉकडाउन आपके खुद को बचाने के लिए है. आपको खुद को बचाना है, अपने परिवार को बचाना है. साथियों मैं ये भी जानता हूं कि कोई भी कानून नहीं तोड़ना चाहता, लेकिन कुछ लोग इसका पालन नहीं कर रहे. दुनियाभर में कुछ इसी तरह के लोग आज पछता रहे हैं. दुनिया में सभी सुख का साधन स्वास्थ्य है. ऐसे में नियम तोड़कर आप जीवन से खिलवाड़ कर रहे हैं.'

पीएम मोदी ने कहा, 'कोरोना वायरस ने दुनिया को कैद कर दिया है. ये ना ही राष्ट्र की सीमा और मौसम को मानता है और ना ही अमीर-गरीब के बीच भेदभाव करता है. इसे खत्म करने के लिए सभी मानव जाति को एकजुट होकर कठोर निर्णय लेना होगा. आने वाले कई दिनों तक आपको लक्ष्मण रेखा का पालन करना ही है.'

कोरोना को हराने वाले IT प्रोफेशनल राम के बारे में पीएम मोदी ने कहा, 'राम ने हर निर्देश का पालन किया, जो उन्हें डॉक्टर्स ने दिया और आज वे पूरी तरह स्वस्थ हैं.' 

डॉक्टर नीतीश गुप्ता ने पीएम मोदी से स्थिति के बारे में बताते हुए कहा, 'हम लोग सेना की तरह लगे हुए हैं. हमारी एक ही उम्मीद है कि सभी मरीज ठीक होकर घर जाएं. मरीजों की काउंसलिंग भी करनी पड़ रही है, क्योंकि लोग काफी डरे हुए हैं. हम समझाते हैं कि आपका केस बहुत नॉर्मल है, टेस्ट निगेटिव होते ही आपको घर भेज दिया जाएगा, हमारे समझाने के बाद उनका हौसला बढ़ता है. हम अपनी टीम को प्रोत्साहित करते रहते हैं.'

पुणे के डॉक्टर बोरसे ने पीएम मोदी से कहा, 'कोरोना संदिग्धों को भी हम समझाते हैं कि यदि आप घर में हैं तो एकांतवास में ही रहें. बार-बार आपको हाथ साफ करना है, भले ही सादा साबुन ही क्यों न हो. मुंह ढंककर ही खांसना है. मुझे पूरा विश्वास है कि कोरोना के खिलाफ हम जरूर जीतेंगे.'

ये भी देखें-

पीएम मोदी ने आगे लिखा, "भारत को स्वस्थ बनाए रखने में हम कोई कसर नहीं छोड़ेंगे.' इसी बीच, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा है कि सभी भाजपा सांसद Covid-19 वायरस की रोकथाम के लिए सरकार द्वारा किए जा रहे कार्यों में मदद करने के लिए अपनी सांसद निधि से एक करोड़ रुपय केंद्रीय सहायता कोष में देंगे.