बीजेपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक को आज संबोधित करेंगें प्रधानमंत्री मोदी, देंगे विजय मंत्र

बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक का शनिवार को दूसरा दिन है। बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी पार्टी के पदाधिकारियों को शाम को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री पांच राज्यों में पार्टी की चुनावी रणनीति पर चर्चा करेंगे। बताया जा रहा है कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में बीजेपी पांच राज्यों में होने जा रहे विधानसभा चुनाव को लेकर पार्टी की चुनावी रणनीति के खाके को अंतिम रूप दे सकती है।

बीजेपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक को आज संबोधित करेंगें प्रधानमंत्री मोदी, देंगे विजय मंत्र
फाइल फोटो

नई दिल्ली: बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक का शनिवार को दूसरा दिन है। बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी पार्टी के पदाधिकारियों को शाम को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री पांच राज्यों में पार्टी की चुनावी रणनीति पर चर्चा करेंगे। बताया जा रहा है कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में बीजेपी पांच राज्यों में होने जा रहे विधानसभा चुनाव को लेकर पार्टी की चुनावी रणनीति के खाके को अंतिम रूप दे सकती है।

बीजेपी विधानसभा के चुनाव में नोटबंदी और सर्जिकल स्ट्राइक के मुद्दे को भुनाने का पूरा प्रयास करेगी। राष्ट्रीय कार्यकारिणी के पहले दिन बीजेपी का मुख्य निशाना टीएमसी और ममता बनर्जी रहीं।

पार्टी नोटबंदी को अहम चुनावी मुद्दा बनाना चाहती है। पार्टी नोटबंदी के कदम को ब्लैकमनी और करप्शन के खिलाफ जंग के तौर पर पेश करती है।

इसके अलावा वह पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में सजिकल स्ट्राइक और गरीब समर्थक योजनाओं को भी भुनाना चाहती है। बैठक के पहले दिन बीजेपी प्रेसीडेंट अमित शाह ने अपने संबोधन में नोटबंदी और सर्जिकल स्ट्राइक का खासतौर पर जिक्र किया। शाह ने यह साफ किया कि सजिर्कल स्ट्राइक के साथ ही नोटबंदी पार्टी के लिए दो प्रमुख प्रचार के मुद्दे होंगे।

शुक्रवार को राष्ट्रीय कार्यकारिणी में अमित शाह ने कहा कि नोटबंदी से लोगों को थोड़े समय के लिए दिक्कत हुई है, लेकिन इससे दीर्घकालिक फायदा होने वाला है। उन्होंने कहा कि जनता इस मुद्दे पर सरकार के साथ है जिसका सबूत कई राज्यों में हुए निकाय चुनावों के परिणाम हैं।

अगले लोकसभा चुनाव में भले ही अभी ढाई साल का वक्त बचा हो, लेकिन बीजेपी ने दिल्ली की कार्यकारिणी से ही मिशन 2019 की शुरुआत कर दी है। पार्टी ने तय किया है कि जिन सीटों पर बीजेपी ने पिछले लोकसभा चुनाव में जीत हासिल नहीं की थी, वहां अभी से कार्यकर्ताओं की टीम काम करेगी।

बीजेपी सूत्रों का कहना है कि पार्टी ने यह तैयारी इस उम्मीद से शुरू की है कि देश में जहां भी उसका आधार बेहद कम है, वहां उसका विस्तार किया जाए।पार्टी नेता प्रकाश जावड़ेकर का कहना है कि दरअसल दीनदयाल उपाध्याय की जन्मशती वर्ष में यह फैसला भी किया गया है कि कार्यकर्ता पार्टी के लिए समय दान करें। समय दान के तहत ही यह योजना बनाई गई है।

इस योजना के तहत अपना समय दान देने वाले एक लाख 60 हजार वर्करों को 15 दिन का वक्त देना होगा। ये कार्यकर्ता उन निर्वाचन क्षेत्रों में तैनात होंगे, जहां पिछले लोकसभा चुनाव के वक्त बीजेपी या उनके सहयोगी दलों को हार का सामना करना पड़ा था। इन कार्यकर्ताओं से कहा जाएगा कि वह एक साल तक उन लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों में रहकर काम करें।

 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.