close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ह्यूस्टन में नई केमिस्ट्री, नई हिस्ट्री; आतंकियों को पनाह देने वाले पाकिस्तान का पर्दाफाश

पीएम नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आतंकवाद पर पाकिस्तान को खरी खरी सुना दी है. ह्यूस्टन में एक मंच पर मौजूद पीएम मोदी ने साफ कहा कि आतंकवाद के खिलाफ निर्णायक लड़ाई लड़नी होगी. 

ह्यूस्टन में नई केमिस्ट्री, नई हिस्ट्री; आतंकियों को पनाह देने वाले पाकिस्तान का पर्दाफाश
ह्यूस्टन में हाउडी कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी ने पाकिस्तान का नाम लिए बगैर आतंकवाद पर निशाना साधा.

टेक्सास: पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendar Modi) और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने आतंकवाद (terrorism) पर पाकिस्तान (Pakistan) को खरी खरी सुना दी है. ह्यूस्टन (Houston) में एक मंच पर मौजूद पीएम मोदी ने साफ कहा कि आतंकवाद के खिलाफ निर्णायक लड़ाई लड़नी होगी. वहीं ट्रंप ने इस्लामिक आतंकवाद के खिलाफ जंग की बात कही. 

ह्यूस्टन में हाउडी कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी ने पाकिस्तान का नाम लिए बगैर आतंकवाद पर निशाना साधा. पीएम मोदी ने कहा कि भारत जो कर रहा है, उससे कुछ ऐसे लोगों को भी दिक्कत हो रही है, जिनसे खुद अपना देश संभल नहीं रहा है. प्रधानमंत्री ने कहा कि आतंकवाद और उसे बढ़ावा देने वालों के खिलाफ अब निर्णायक लड़ाई लड़ने की जरूरत है.

पीएम मोदी के साथ कार्यक्रम में मौजूद अमेरिका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने भी आतंकवाद पर पाकिस्तान को कड़ा संदेश दिया. ट्रंप ने कहा कि भारत-अमेरिका इस्लामिक आतंकवाद से मिलकर लड़ेंगे. उधर, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने कहा कि हम गर्व के साथ खड़े हैं और ये हमारी ज़िम्मेदारी है कि हम अपने बेगुनाह नागरिकों की रक्षा इस्लामिक टेररिज़्म से करें. 

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लिए क्यों जरूरी हैं पीएम मोदी, 5 प्वॉइंट में समझें

LIVE टीवी: 

इसलिए ऐतिहासिक थी ह्यूस्टन में मोदी की रैली
पहली बार एक साथ एक मंच पर भारतीय के प्रधानमंत्री और अमेरिका के राष्ट्रपति आए. पहली बार दुनिया के सबसे बड़े और सबसे पुराने लोकतंत्र के प्रमुखों की साझा रैली की. पहली बार अमेरिका के राष्ट्रपति 50 हज़ार भारतवंशियों को एक साथ संबोधित किया. पहली बार 50 हज़ार से ज्यादा भारतीयों ने 'Howdy Modi' के लिए रजिस्ट्रेशन कराया. पहली बार चुनावी साल में अमेरिकी भारतीयों को संबोधित करने वाले ट्रंप पहले राष्ट्रपति बने. पहली बार अमेरिका के ह्यूस्टन में भारतीयों को संबोधित करने वाले पीएम मोदी पहले नेता बने. 

अमेरिका में 'ब्रांड इंडिया' की ताकत: 
भारतीय आबादी - करीब 30 लाख हैं. भारतीय वोटर - करीब 15 लाख हैं. ग्रीन कार्ड धारक - करीब 12.8 लाख हैं. भारतीय मूल के सांसद - 5 हैं. भारतीय वैज्ञानिक - 12% हैं. NASA में भारतीय वैज्ञानिक - 36 %
भारतीय डॉक्टर - 38% हैं. माइक्रोसॉफ्ट में भारतीय - 34% हैं. XEROX में भारतीय - 13 % हैं. IBM में भारतीय - 28%, INTEL में भारतीय - 17 % हैं.