पीएम नरेंद्र मोदी ने बुलाई सचिवों की अहम बैठक, इन अहम मुद्दों पर होगी चर्चा

इस अहम मुलाकात के दौरान मंत्रिपरिषद की बैठक में आए सुझावों के बारे में सभी मंत्रालय के सचिवों को ब्रीफ किया जाएगा. सूत्रों के अनुसार आने वाले समय में मंत्रिपरिषद की ऐसी चार बैठकें और होंगी.

पीएम नरेंद्र मोदी ने बुलाई सचिवों की अहम बैठक, इन अहम मुद्दों पर होगी चर्चा
फाइल फोटो

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने मंत्रिपरिषद की हाल की बैठक के बाद अब सभी मंत्रालयों के सचिवों की अहम बैठक बुलाई है. इस महत्वपूर्ण बैठक के लिये पीएम ने शनिवार शाम 4:30 बजे का वक्त मुकर्रर किया है. इस दौरान सभी मंत्रालयों के सचिवों की मौजूदगी सुनिश्चित होने के निर्देश दिए गए हैं. इस मीटिंग में प्रिंसिपल सेक्रेटरी और केबिनेट सेक्रेटरी स्तर के अधिकारी भी मौजूद रहेंगे. 

कामकाज की समीक्षा

इस बैठक में मंत्रालयों के कामकाज की समीक्षा की जाएगी वहीं भविष्य की योजनाओं पर चर्चा होगी. बताया जा रहा है कि जिस तरह से मंत्रिपरिषद की बैठक में प्रधानमंत्री मोदी ने सभी मंत्रियों को आपस में अच्छे-अच्छे सुझावों के आदान-प्रदान करने की नसीहत दी थी, उसी तर्ज पर कल होने वाली इस बैठक में इसी तरह का संदेश सभी सचिवों को दिया जा सकता है. इस बैठक में काम करने के सबसे बेहतरीन अनुभव तथा सुझाव एक दूसरे से साझा किए जाएंगे. 

ये भी जानें- SCO Summit: SCO शिखर सम्मेलन में अफगानिस्तान पर क्या बोले पीएम नरेंद्र मोदी? 

मंत्रिपरिषद की 4 बैठकों की सूचना

इस मुलाकात के अलावा मंत्रिपरिषद की बैठक में आए सुझावों के बारे में सचिवों को जानकारी दी जाएगी. सूत्रों के अनुसार आने वाले समय में मंत्रिपरिषद की ऐसी चार बैठकें और होंगी. जिसमें अर्थव्यवस्था (Economy) में तेजी लाने के साथ कोरोना की तीसरी लहर (Third Wave Corona) की आशंका के मद्देनजर हो रही तैयारियों का जायजा लिया जाएगा. आपको बता दें कि प्रधानमंत्री ने मंत्रिपरिषद की पिछली बैठक को चिंतन शिविर का नाम दिया था. यानी आगे की मंत्रिपरिषद की बैठकों में भी गहन चिंतन होने की संभावना है.

PMO
(फाइल फोटो: पीएम मोदी ने मंत्रिपरिषद की बैठक को चिंतन शिविर नाम दिया है.)

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.