close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

थोड़ी देर में LoC के पास राजौरी में सैनिकों के साथ दिवाली मनाएंगे पीएम नरेंद्र मोदी

दिवाली (Diwali) : खास बात यह भी है कि जम्‍मू-कश्‍मीर (Jammu Kashmir) से अनुच्‍छेद 370 (Article 370) हटाए जाने के बाद पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहली बार यहां आए हैं.

थोड़ी देर में LoC के पास राजौरी में सैनिकों के साथ दिवाली मनाएंगे पीएम नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली: हर साल की तरह इस बार भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) भारतीय सैनिकों के साथ दिवाली (Diwali) मनाएंगे. इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दोपहर 12 बजे राजौरी पहुंचे. यहां LoC के पास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारतीय सैनिकों के साथ थोड़ी देर मेें दीपावली का त्‍यौहार मनाएंगे. इस तरह प्रधानमंत्री लगातार छठे साल दिवाली सैनिकों के साथ मनाएंगे. खास बात यह भी है कि जम्‍मू-कश्‍मीर (Jammu Kashmir) से अनुच्‍छेद 370 (Article 370) हटाए जाने के बाद पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहली बार यहां आए हैं.

इससे पहले दिवाली के अवसर पर पीएम मोदी ने आज सुबह देशवासियों को बधाई भी दी. 

 

 

साल 2018 में पीएम मोदी ने भारत चीन सीमा पर तैनात आईटीबीपी के जवानों के साथ दीवाली मनाई थी. इस दौरान पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा था, 'दूर-दराज के इलाकों में बर्फीले पहाड़ों पर ड्यूटी करने की उनकी लगन राष्ट्र की ताकत को और मजबूत बनाती है.' भारत चीन सीमा पर हर्षिल छावनी क्षेत्र में जवानों को शुभकामनाएं देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि वे अपनी प्रतिबद्धता और अनुशासन के जरिये 125 करोड़ भारतीयों के सपने एवं भविष्य को सुरक्षित करते हैं और लोगों में सुरक्षा और निडरता का भाव पैदा करने में मदद करते हैं.

मोदी ने सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत की मौजूदगी में सैनिकों से कहा था, ‘‘आप हमारी जमीन के केवल एक कोने की रक्षा नहीं कर रहे हैं. देश की सरहदों की सुरक्षा करके, आप 125 करोड़ भारतीयों के सपनों और जिंदगियों की सुरक्षा कर रहे हैं.’’ 

पीएम मोदी ने 2017 में प्रधानमंत्री के रूप में अपनी चौथी दिवाली जम्मू कश्मीर के गुरेज में सैनिकों के साथ मनाई थी. इससे पहले वर्ष 2016 में पीएम मोदी हिमाचल प्रदेश गये थे. जहां उन्होंने आईटीबीपी पुलिस के जवानों के साथ एक सुरक्षा चौकी पर समय बिताया था. साल 2015 में वह दिवाली पर पंजाब सीमा पर गये थे.और साल 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी ने दिवाली सियाचिन में जवानों के साथ मनाई थी.