close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

PM मोदी का फैसला- RCEP समझौते में शामिल नहीं होगा भारत, कहा- देशहित से कोई समझौता नहीं

भारत ने रीजनल कॉम्प्रिहंसिव इकनॉमिक पार्टनरशिप (RCEP) में शामिल नहीं होगा क्योंकि उसकी मुख्य चिंताओं को दूर नहीं किया गया है.

PM मोदी का फैसला- RCEP समझौते में शामिल नहीं होगा भारत, कहा- देशहित से कोई समझौता नहीं
RCEP समिट में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि RCEP के तहत मूलभूत हितों पर भारत कोई समझौता नहीं करेगा.

नई दिल्ली: भारत ने क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक साझेदारी (RCEP) में शामिल नहीं होगा क्योंकि उसकी मुख्य चिंताओं को दूर नहीं किया गया है. RCEP समिट में पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा कि RCEP के तहत मूलभूत हितों पर भारत कोई समझौता नहीं करेगा. पीएम मोदी ने कहा, 'मैंने सभी भारतीयों के हितों के संबंध में आरसीईपी समझौते को मापा, लेकिन मुझे कोई सकारात्मक जवाब नहीं मिला. न तो गांधीजी के सिद्धांतों ने और न ही मेरी अंतरात्मा ने मुझे आरसीईपी में शामिल होने की अनुमति दी.'

ये वीडियो भी देखें:

गौरतलब है कि RCEP के तहत मुक्त व्यापार समझौता एसोसिएशन ऑफ साउथईस्ट एशियन नेशंस (आसियान) के 10 सदस्य देशों के अलावा छह अन्य देशों चीन, जापान दक्षिण कोरिया, भारत, आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच प्रस्तावित है. भारत की बड़ी चिंता चीन से होने वाला सस्ता आयात है, जिससे घरेलू कारोबार पर असर पड़ सकता है. साथ ही, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड से सस्ते दुग्ध उत्पादों का आयात होने से घरेलू डेरी उद्योग प्रभावित हो सकता है. इसी चिंता को लेकर देश के किसान संगठनों ने सरकार से RCEP के तहत व्यापार करार में डेयरी उत्पादों को शामिल नहीं करने की मांग की थी.