इमरजेंसी की बरसी पर बोले पीएम मोदी- 'लोकतंत्र को जेल में कैद करने वाले हमें ना पढ़ाएं संविधान का पाठ'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, बीजेपी कार्यकर्ता आपातकाल के दिन को कांग्रेस और उसकी सरकार का विरोध करने के लिए नहीं बल्कि लोगों को उन दिनों की याद दिलाने के लिए मनाते हैं. 

इमरजेंसी की बरसी पर बोले पीएम मोदी- 'लोकतंत्र को जेल में कैद करने वाले हमें ना पढ़ाएं संविधान का पाठ'
फोटो सौजन्य: ANI

मुंबई : बीजेपी के एक कार्यक्रम में शिरकत करने मुंबई पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कार्यकर्ताओं के बीच आपातकाल को लेकर बात की. पीएम मोदी ने कहा कि हर साल 26 जून को आपातकाल के उस काले दिन को याद किया जाता है, जब खुलेआम लोकतंत्र की हत्या की गई. उन्होंने कहा कि बीजेपी कार्यकर्ता आपातकाल के दिन को काला दिवस के रूप में कांग्रेस और उसकी सरकार का विरोध करने के लिए नहीं बल्कि लोगों को उन दिनों की याद दिलाने के लिए मनाते हैं. 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन की खास बातें...

- जिस पार्टी के अन्दर लोकतंत्र ना हो उनसे लोकतंत्र के प्रति प्रतिबद्धता की उम्मीद करना भी गलत है.

- जब-जब कांग्रेस पार्टी को और खासकर एक परिवार को अपनी कुर्सी जाने का संकट महसूस हुआ है तो उन्होंने चिल्लाना शुरू किया है.

- कांग्रेस कह रही है कि देश में डर का माहौल है और देश तबाह हो जाने वाला है और इसे सिर्फ हम ही बचा सकते हैं.

- किशोर कुमार ने कांग्रेस के कार्यक्रम में गाने से मना किया तो उन्हें ही बैन कर दिया.

- लोकतंत्र को सचेत रखने के लिए इमरजेंसी को याद करना जरूरी है. 

- इतिहास के उस काले दिन को हर किसी को याद रखना जरूरी है.

'आपातकाल की वह काली रातें याद कर आज भी सिहर उठता है पूरा बदन...'

देखिए लाइव

 

- आज की युवा पीढ़ी को आपातकाल का ज्ञान नहीं है, इसलिए उन्हें ये बताना जरूरी है. 

- सत्ता के सुख के लिए कांग्रेस ने देश को जेलखाने में तब्दील कर दिया. 

- जिन्होंने आपातकाल का विरोध किया, उन्हें मेरा सैल्यूट है. 

- परिवार भक्ति के अंधेपने में देश को जेलखाना बना दिया गया.

- पहले कहते थे कि आरएसएस वाले मुस्लिमों को मार देंगे, आज कह रहे हैं दलित संकट में हैं.

- कांग्रेस को काल्पनिक डर पैदा करने के आदत है और वो इसका प्रचार करते आए हैं. 

- जिन्होंने लोकतंत्र को खत्म किया. वह आज कह रहे हैं मोदी है संविधान को खत्म कर देगा.

- कुछ ही पत्रकारों ने इमरजेंसी के खिलाफ लड़ाई लड़ी थी. 

- इतिहास वाकिफ है कि राजीव गांधी ने मीडिया के साथ कैसा व्यवहार किया. 

यह भी पढ़ें : अरुण जेटली ने क्‍यों कहा कि इंदिरा गांधी ने पहले ही इमरजेंसी लगाने की योजना तैयार कर ली थी?​

बीजेपी मना रही है काला दिवस
बता दें कि 1975 में इंदिरा गांधी की ओर से घोषित किए गए आपातकाल के विरोध में आज(26 जून) बीजेपी काला दिवस मना रही है. बीजेपी नेता देश के तमाम शहरों में मौजूद हैं. 25 केंद्रीय मंत्री आज 25 शहरों में काला दिवस के मौके पर प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले हैं. 

देवेंद्र फडणवीस भी मंच पर मौजूद
जिस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आपातकाल का जिक्र किया, उस कार्यक्रम में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस समेत कई राज्य मंत्री मौजूद थे.