Zee Rozgar Samachar

AMU के शताब्दी समारोह में चीफ गेस्ट होंगे PM Modi, 56 सालों बाद बना ये संयोग

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (AMU) के शताब्दी समारोह में बतौर मुख्य अतिथि शामिल होंगे. 56 सालों बाद देश के प्रधानमंत्री इस कार्यक्रम में शामिल होंगे. 

AMU के शताब्दी समारोह में चीफ गेस्ट होंगे PM Modi, 56 सालों बाद बना ये संयोग
फाइल फोटो.

अलीगढ़: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) अलीगढ़ मुस्लिम विश्‍वविद्यालय (AMU) के शताब्‍दी समारोह में मंगलवार को मुख्‍य अतिथि के रूप में शामिल होंगे. यह पहली बार है जब पांच दशक से भी ज्यादा वक्त में कोई प्रधानमंत्री एएमयू के कार्यक्रम में शिरकत करेंगे.

विशेष डाक टिकट करेंगे जारी 
केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक भी इस आयोजन में ऑनलाइन भाग लेंगे. एएमयू के आधिकारिक बयान के अनुसार इस ऐतिहासिक अवसर को यादगार बनाने के लिए प्रधानमंत्री एक विशेष डाक टिकट भी जारी करेंगे. एएमयू के कुलपति प्रोफेसर तारिक मंसूर ने पीएम मोदी के प्रति आभार जताया और कहा कि शताब्‍दी समारोह में शामिल होने की उनकी स्‍वीकृति के लिए विश्‍वविद्यालय परिवार कृतज्ञ है.

यह भी पढ़ें: Pakistan की नापाक हरकतों पर रक्षा मंत्री की दो टूक, बोले- मिलेगा मुंह तोड़ जवाब

बता दें, इससे पहले 1964 में तत्कालीन प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री ने AMU के कॉन्वोकेशन में हिस्सा लिया था. 56 सालों बाद देश के प्रधानमंत्री इस कार्यक्रम में शामिल होंगे. हालांकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) शताब्दी समारोह को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये संबोधित करेंगे. वो खुद यूनिवर्सिटी नहीं जाएंगे. 

कुलपति की अपील
प्रधानमंत्री मोदी का कार्यक्रम तय होने के बाद कुलपति, प्रोफेसर तारिक मंसूर ने कहा था, इस ऐतिहासिक वर्ष के दौरान विश्वविद्यालय का और अधिक विकास होगा, जिससे छात्रों को निजी और सार्वजनिक क्षेत्रों में नियुक्ति में मदद मिलेगी. प्रोफेसर मंसूर ने विश्वविद्यालय के समुदाय, कर्मचारियों, सदस्यों, छात्रों और पूर्व छात्रों से आगामी कार्यक्रमों में सक्रिय भागीदारी की अपील की. उन्होंने कहा कि शताब्दी समारोह में सभी लोग राजनीति से ऊपर उठकर शामिल हों.

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.