close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अयोध्या विवाद पर फैसले से पहले PM मोदी की मंत्रियों को सलाह, 'अदालत के फैसले का सम्मान करें'

अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले पीएम नरेंद्र मोदी ने मंत्रियों से अपील की है कि वे शांति और सौहार्द्र का माहौल बनाए रखने में मदद करें. 

अयोध्या विवाद पर फैसले से पहले PM मोदी की मंत्रियों को सलाह, 'अदालत के फैसले का सम्मान करें'
पीएम मोदी ने ये सलाह कैबिनेट बैठक के दौरान दी.

नई दिल्ली: अयोध्या विवाद (Ayodhya case) पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के फैसले से पहले पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने मंत्रियों को सलाह देते हुए कहा कि वे शांति और सौहार्द्र का माहौल बनाए रखने में मदद करें. सुप्रीम कोर्ट जो भी फैसला दे, उसका सम्मान हो. फैसला किसी के भी पक्ष में आए, न जश्न मने और न गम हो. न्यायालय जो भी फैसला दे, उसका सम्मान हो. पीएम मोदी ने ये सलाह कैबिनेट बैठक के दौरान दी. अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला 17 नवंबर तक आएगा. 

अयोध्या नगरी में उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब 
कार्तिक माह में अयोध्या नगरी में श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ा हुआ है. पिछले 15 दिनों से हर रोज़ करीब 10 हज़ार लोग दर्शन करने पहुंच रहे हैं. भीड़ को देखते हुए दो पालियों में दर्शन की व्यवस्था की गई है. पहली पाली सुबह 7 से 11 बजे और दूसरी पाली में दोपहर 1 बजे से शाम 5 बजे तक दर्शन होते हैं. अयोध्या में कड़ी सुरक्षा के बीच 14 कोस की परिक्रमा खत्म हुई. कल सुबह 6:05 पर परिक्रमा शुरू हुई आज 24 घंटे बाद सुबह 7:49 पर परिक्रमा समाप्त हुई है. अयोध्या की आस्था के पद पर लगभग 30 लाख श्रद्धालुओं ने परिक्रमा लगाई. अयोध्या में 14 कोस की परिक्रमा के बाद अब पंचकोशी परिक्रमा शुरू होगी. कल यानि 7 नवंबर से पंचकोशी परिक्रमा फुरू होगी जिसमें करीब 20 लाख श्रद्धालु परक्रमा करेंगे. परिक्रमा कल सुबह 9.47 पर शुरू होकर 8 नवंबर दोपहर 12 बजे तक चलेगी. 

केंद्र ने उप्र सरकार को जारी किए सुरक्षा संबंधी निर्देश
अगले हफ्ते अयोध्या भूमि विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने की उम्मीद है. इसलिए गृह मंत्रालय ने उत्तर प्रदेश सरकार को अयोध्या में सभी सुरक्षा तैयारियों को सुनिश्चित करने के लिए आगाह किया है. कानून एवं व्यवस्था को बनाए रखने व किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए एहतियात के तौर पर अयोध्या को किसी किले की तरह बदल दिया जाएगा. आतंकी खतरे के बारे में खुफिया सूचनाओं का हवाला देते हुए मंत्रालय ने केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला के आदेश पर पिछले सप्ताह जारी एक परिपत्र के माध्यम से उत्तर प्रदेश सरकार को सचेत किया है. प्रदेश सरकार को पुलिस बल की अधिकतम तैनाती का निर्देश दिया गया है. वहीं सोशल साइट्स पर कोई अफवाह न फैले, इसलिए इन पर भी नजर रखने के आदेश हैं. 

LIVE टीवी: 

उधर, अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने से पहले बीजेपी प्रवक्ता शाहनवाज़ हुसैन ने कहा कि इस देश में किसी को डर नहीं है, डर केवल पाकिस्तान और यमन के लोगों को है. अयोध्या मामले पर जमीयत उलेमा-ए-हिंद के अध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी ने कहां कि हमें सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार है, हमें लगता है कि फैसला हमारे हक में ही आएगा. मौलाना अरशद मदनी ने ये भी कहा कि कोर्ट का जो भी फैसला होगा उसे माना जाएगा. जमीयत उलेमा-ए-हिंद के अध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी ने कहा कि देश में शांति और सौहार्द को  लेकर संघ प्रमुख से भी मुलाकात हुई है. फैसला जो भी आए देश के माहौल को खराब नहीं होने देंगे देश के अंदर हिंदु-मुस्लिम एकता बनी रहनी चाहिए.