close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

PM मोदी का UNGA में भाषण आज, UN मुख्यालय के बाहर भारतीय समुदाय करेगा भव्य स्वागत

पीएम मोदी का स्वागत करने के लिए अमेरिका के कई राज्यों से भारतीय समुदाय के लोग न्यूयॉर्क पहुंचे हैं. 

PM मोदी का UNGA में भाषण आज, UN मुख्यालय के बाहर भारतीय समुदाय करेगा भव्य स्वागत
प्रधानमंत्री ने वर्ष 2014 और वर्ष 2015 में भी UNGA को संबोधित किया था. ये उनका संयुक्त राष्ट्र महासभा में तीसरा भाषण होगा. (फाइल फोटो)

न्यूयॉर्क: संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) में शुक्रवार को पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) भाषण देने जा रहे हैं. इस भाषण को लेकर अमेरिका (US) में रह रहे भारतीय समुदाय (Indian Community) में खासा उत्साह है. यही वजह है कि पीएम मोदी का स्वागत करने के लिए अमेरिका के कई राज्यों से भारतीय समुदाय के लोग न्यूयॉर्क पहुंचे हैं. 

भारतीय समुदाय यूएन मुख्याल्य के बाहर पीएम मोदी का भव्य स्वागत करेगा. जानकारी के मुताबिक पीएम नरेंद्र मोदी भारतीय समयानुसार शाम करीब 7.50 बजे सभा को संबोधित करेंगे. प्रधानमंत्री ने वर्ष 2014 और वर्ष 2015 में भी UNGA को संबोधित किया था. ये उनका संयुक्त राष्ट्र महासभा में तीसरा भाषण होगा. दोबारा प्रधानमंत्री चुने जाने के बाद पीएम मोदी का ये UNGA में पहला भाषण है.

इस भाषण में प्रधानमंत्री न्यू इंडिया  की नीतियों से विश्व को अवगत करा सकते हैं. प्रधानमंत्री अपने भाषण में कई अहम मुद्दों का जिक्र कर सकते हैं.  प्रधानमंत्री अपने भाषण में आतंकवाद का मुद्दा उठा सकते हैं. वर्ष 2014 में UNGA में ही प्रधानमंत्री मोदी ने आतंकवाद को गुड टेररिज्म (Good Terrorism) और बैड टेररिज्म (Bad Terrorism) में बांटे जाने को लेकर दुनिया के बड़े देशों की आलोचना की थी. 

प्रधानमंत्री अपने भाषण में पर्यावरण मुद्दे पर भी बात कर सकते हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सिंगल यूज प्लास्टिक (Single Use Plastic) के खिलाफ अपने संकल्प को फिर से दोहरा सकते हैं.

पीएम मोदी के भाषण के कुछ समय बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का भी भाषण होगा. 

मोदी-रूहानी मुलाकात
इससे पहले संयुक्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी के बीच गुरुवार को बैठक हुई, जिसमें दोनों नेताओं ने चाबहार बंदरगाह और इसकी महत्ता पर चर्चा की. दोनों नेताओं ने इसके अलावा द्विपक्षीय संबंधों पर चर्चा की और साझा हितों के क्षेत्रीय और वैश्विक विकास पर विचार साझा किए.