close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पटना में प्रकाश पर्व पर मोदी-नीतीश एक साथ, शराबबंदी पर दोनों ने एक-दूसरे को सराहा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार में शराबबंदी का अभियान चलाने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की आज जमकर तारीफ की और सभी से इस कदम को पूरी तरह सफल बनाने की अपील की। कुछ सप्ताह पहले ही नोटबंदी का समर्थन करने पर भी मोदी ने नीतीश की सराहना की थी। 

पटना में प्रकाश पर्व पर मोदी-नीतीश एक साथ, शराबबंदी पर दोनों ने एक-दूसरे को सराहा
तस्वीर के लिए साभार- ani

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार में शराबबंदी का अभियान चलाने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की आज जमकर तारीफ की और सभी से इस कदम को पूरी तरह सफल बनाने की अपील की। कुछ सप्ताह पहले ही नोटबंदी का समर्थन करने पर भी मोदी ने नीतीश की सराहना की थी। प्रधानमंत्री मोदी ने आज यहां दसवें सिख गुरू गोविंद सिंह के 350वें प्रकाश पर्व के समापन समारोह में भाग लिया जिसमें उनके साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंच साझा किया।

मोदी ने कहा, ‘मैं शराब के खिलाफ अभियान छेड़ने के लिए नीतीश कुमार को तहेदिल से बधाई देता हूं।’ उन्होंने कहा, ‘लेकिन इस काम में केवल नीतीश कुमार या एक दल के प्रयासों से ही सफलता नहीं मिलेगी। सभी राजनीतिक दलों, सामाजिक संगठनों और नागरिकों को इसे ‘जन-जन का आंदोलन’ बनाने के लिए इसमें भाग लेना होगा।’ प्रधानमंत्री ने कहा कि बिहार सफल शराबबंदी लागू करके पूरे देश के सामने मिसाल बनेगा।

बिहार के मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से पूरे देश में शराबबंदी का आग्रह किया था जिसके जवाब में मोदी ने यह बात कही। नीतीश कुमार ने अपने चुनावी वादे को पूरा करते हुए बिहार में पूर्ण शराबबंदी लागू की थी। नीतीश ने अपने भाषण में कहा कि गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में नरेंद्र मोदी ने सफलतापूर्वक शराबबंदी लागू की थी जो शुरूआत से ही प्रभाव में है।

मोदी और नीतीश यूं तो राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी रहे हैं, लेकिन कुछ दिन पहले नोटबंदी के मुद्दे पर एकजुट विपक्ष के विरोध के चलते संसद के शीतकालीन सत्र के एक तरह से बेकार चले जाने के बाद केंद्र सरकार के इस फैसले का समर्थन करने के लिए प्रधानमंत्री ने बिहार के मुख्यमंत्री की तारीफ की थी।

मोदी को 2014 में भाजपा का प्रधानमंत्री पद का दावेदार घोषित किये जाने को लेकर जदयू ने राजग से समर्थन वापस ले लिया था। दोनों ही नेताओं ने 2015 में बिहार के विधानसभा चुनाव में एक दूसरे के खिलाफ पुरजोर प्रचार किया था। जदयू ने राजद के साथ मिलकर भाजपा को इस चुनाव में बड़ी शिकस्त दी। हालांकि दूसरे विपक्षी दलों से अलग हटकर जदयू ने नोटबंदी के फैसले का समर्थन किया।

दसवें सिख गुरू गोविंद सिंह के सम्मान में सिर झुकाते हुए प्रधानमंत्री ने ‘पंच प्यारा पंथ’ बनाकर देश की एकता के प्रयासों के लिए दशम गुरू की प्रशंसा की। दशम गुरू के 350वें प्रकाश पर्व के लिए अच्छे बंदोबस्त करने में निजी रुचि लेने के लिए नीतीश कुमार की प्रशंसा करते हुए मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार समारोह के आयोजन में बिहार सरकार की मदद करने के साथ ही विभिन्न देशों में अपने दूतावासों के माध्यम से इस ऐतिहासिक उत्सव को मना रही है।

मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार ने विदेशों में 350वें प्रकाश पर्व को मनाने के लिए सौ करोड़ रपये आवंटित किये हैं। उन्होंने बिहार में समारोह के सफलतापूर्वक आयोजन में केंद्र के योगदान को भी रेखांकित किया। उन्होंने कहा कि रेल मंत्रालय और केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय ने भी बिहार में प्रकाश पर्व के लिए 40-40 करोड़ रुपये खर्च किये हैं। 

प्रधानमंत्री ने गांधी मैदान में बनाये गये टैंट सिटी में चल रहे एक लंगर में प्रसाद भी लिया और फिर दिल्ली वापसी के लिए पटना हवाईअड्डे को रवाना हो गये। समारोह में प्रधानमंत्री ने, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने, केंद्रीय मंत्रियों रामविलास पासवान और रविशंकर प्रसाद ने पगड़ी पहनी। समारोह में देश विदेशी से लाखों श्रद्धालुओं ने भाग लिया।

इससे पहले नीतीश कुमार ने पहले बोलते हुए गुजरात में शराबबंदी को लेकर पीएम मोदी की तारीफ की। नीतीश कुमार ने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री 12 साल तक मुख्यमंत्री रहे और गुजरात में शराब को बैन किया। गौर हो कि इससे पहले भी नोटबंदी को लेकर नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री मोदी का समर्थन किया था। साथ ही नीतीश कुमार ने गुरु गोविंद सिंह के जीवन पर प्रकाश डालते हुए उनकी कुर्बानी के बारे में बताया।

गौर हो कि प्रकाश पर्व के दौरान पीएम मोदी मंच पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल, केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, राम विलास पासवान सहित अन्य मंत्रियों के साथ मंच पर मौजूद थे। सिखों के दसवें  गुरु गोविंद सिंह की जयंती पर प्रकाश पर्व आयोजित किया गया है। इस दौरान पहले पंजाब के मुख्मयंत्री प्रकाश सिंह बादल ने श्रद्धालुओं को संबोधित किया।

मंच पर पंजाब के उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल, केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर, बिहार के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव और पटना साहिब से सांसद तथा भाजपा नेता शत्रुघ्न सिन्हा की मौजूदगी भी रही।