राहुल गांधी 15 मिनट बोलने की बात कहकर मूर्ख नहीं बना सकते : प्रकाश जावड़ेकर

बीजेपी के वरिष्ठ नेता प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, "राहुल गांधी अतीत को भूल सकते हैं लेकिन लोग इसे नहीं भूलेंगे." 

राहुल गांधी 15 मिनट बोलने की बात कहकर मूर्ख नहीं बना सकते : प्रकाश जावड़ेकर
संविधान की सुरक्षा के बारे में राहुल गांधी की टिप्पणी को लेकर जावड़ेकर ने किया पलटवार...(फोटो साभार: ANI)

नई दिल्ली: संसद में बोलने देने संबंधी राहुल गांधी की चुनौती पर तीखा प्रहार करते हुए बीजेपी के वरिष्ठ नेता प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने संसद में कामकाज नहीं चलने दिया, ऐसे में कांग्रेस अध्यक्ष संसद में 15 मिनट बोलने देने की बात कह कर लोगों को मूर्ख नहीं बना सकते हैं. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने ट्वीट किया कि गरीब अब बीजेपी के साथ है, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की दूरदृष्टि से परिपूर्ण और लोकोन्मुखी नेतृत्व पर लोगों को सबसे ज्याद भरोसा है और वे जनमानस के बीच बेहद लोकप्रिय हैं.

उन्होंने कहा, "यह विडंबना है कि राहुल गांधी संसद में 15 मिनट बोलना चाहते हैं लेकिन उनकी अपनी पार्टी के सांसदों ने सदन की कार्यवाही नहीं चलने दी. लोगों को मूर्ख नहीं बनाया जा सकता है."

संविधान की सुरक्षा के बारे में राहुल गांधी की टिप्पणी को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधते हुए जावड़ेकर ने कहा कि कांग्रेस अब संविधान की सुरक्षा की बात कह रही है लेकिन 1975 में उसने आपातकाल लगाकर और प्रेस की स्वतंत्रता का गला घोंटकर इस पर आघात करने का काम किया. उन्होंने कहा कि लोगों ने संविधान की सर्वोच्चता बहाल करने के लिये कांग्रेस के इस कृत्य के खिलाफ संघर्ष किया. बीजेपी नेता ने कहा, "राहुल गांधी अतीत को भूल सकते हैं लेकिन लोग इसे नहीं भूलेंगे." 

 

 

गौरतलब है कि सोमवार को राहुल गांधी ने कहा था कि अगर संसद में उनका 15 मिनट का भाषण करा दिया गया तो वह सरकार को इस कदर घेरेंगे कि मोदी वहां खड़े नहीं रह पाएंगे. कांग्रेस अध्यक्ष की इस चुनौती के एक दिन बाद कांग्रेस ने आज अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर ऑनलाइन पोल के लिए यह सवाल पोस्ट किया कि 'क्या प्रधानमंत्री मोदी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की 15 मिनट की चर्चा की चुनौती स्वीकार करने की हिम्मत जुटा पाएंगे?' 

बीजेपी ने वीडियो जारी करके दिया करारा जवाब

बीजेपी ने फेसबुक पर राहुल गांधी का संसद में भाषण देने के दौरान का एक वीडियो जारी कर पलटवार किया है. 

 

 

इस वीडियो के साथ लिखा है कि "राहुल जी, हम सभी चाहते हैं कि आप संसद में बोलें. इस तरह के आनंद से हम लोग कैसे वंचित रह सकते हैं."