close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गर्भवती महिला को O+ की जगह चढ़ाया A+ ब्लड, गर्भ में 8 माह के बच्चे की मौत

पश्चिम बंगाल में नदिया जिले के एक अस्‍पताल से बड़ी लापरवाही का मामला सामने आया है. 

गर्भवती महिला को O+ की जगह चढ़ाया A+ ब्लड, गर्भ में 8 माह के बच्चे की मौत

बंगाल, पुलकित मित्तल:   पश्चिम बंगाल में नदिया जिले के एक अस्‍पताल से बड़ी लापरवाही का मामला सामने आया है. जहां डाक्‍टर ने अस्‍पताल में भर्ती गर्भवती महिला को ओ पॉजिटिव ब्‍लड ग्रुप की जगह A पॉजिटिव का खून चढ़ा दिया. जिसके बाद से ही महिला की तबीयत खराब होनी शुरू हो गई और उसे दूसरे अस्‍पताल के लिए रेफर कर दिया गया. जहां महिला के गर्भ में पल रहे 8 माह के बच्‍चे की मौत हो गई. जिसके बाद गुस्‍साए परिजनों का जिला अस्‍पताल कर्मियों और सुरक्षा कर्मियों के साथ झगड़ा हो गया जो बाद में मारपीट में तबदील हो गया.

दरसल बुधवार को नदिया जिले के चापड़ा ब्लॉक की रहने वाली जैस्मिन मल्लिक को बुखार होने पर कृष्णानगर जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. महिला 8 माह की गर्भवती है थी. जिसके बाद डाक्‍टरों ने महिला जांच की. जांच में महिला के शरीर में खून की कमी मिली. जिसके बाद नर्स ने अस्‍पताल के ब्‍लड बैंक से खून का इंतजाम किया और कुछ समय बाद महिला को चढ़ाया.

थोड़ी देर बाद परिजनों का ध्‍यान ब्‍लड बैंक से आए खून के पैकेट पर गया जिसे देखकर सभी चौंक गए. परिजनों ने देखा कि महिला को ओ पॉजिटिव ब्लड के बजाय ए पॉजिटिव ब्‍लड ग्रुप का खून चढ़ाया जा रहा है. जिसकी शिकायत नर्स से करने पर नर्स ने वो पैकेट को बड़ी चालाकी के साथ वहां से हटा दिया. परिजनों ने बाद में इसकी शिकायत अस्‍पताल के सहायक अधीक्षक से की.

इसी बीच महिला की तबीयत ज्‍यादा खराब होने लगी. पूरी घटना के बाद परिजनों ने महिला को सदर अस्‍पताल के चाइल्‍ड हब में भर्ती कराया. जहां महिला के गर्भ में पल रहे 8 माह के बच्‍चे की मौत हो गई. जिसके बाद अस्पताल परिसर में तनाव का माहौल पैदा हो गया और इलाके में भारी तादाद में पुलिस बल की तैनाती भी कर दी गई.

इस के बाद फिर महिला को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया जहां महिला के परिवारवालों के साथ अस्पताल कर्मियों और सुरक्षा कर्मी का झगड़ा शुरू हो गया जो बाद में मारपीट में तब्दील हो गया.