close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सुप्रीम कोर्ट को मिले चार नए जज, शपथ ग्रहण समारोह गुरुवार या शुक्रवार को होने की संभावना

चारों न्‍यायाधीशों का शपथ ग्रहण समारोह संभवत: गुरुवार या शुक्रवार को हो सकता है.

सुप्रीम कोर्ट को मिले चार नए जज, शपथ ग्रहण समारोह गुरुवार या शुक्रवार को होने की संभावना
(फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सुप्रीम कोर्ट के चार नए न्यायाधीशों की नियुक्ति की है. इनमें हिमाचल प्रदेश के चीफ जस्टिस सीजे सूर्यकांत, बॉम्‍बे हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस बीआर गवई, झारखंड के चीफ जस्टिस अनिरुद्ध बोस और गुवाहाटी उच्‍च न्‍यायालय के मुख्‍य न्‍यायाधीश सीजे एएस बोपन्ना शामिल हैं. चारों न्‍यायाधीशों का शपथ ग्रहण समारोह संभवत: गुरुवार या शुक्रवार को हो सकता है.

इससे पहले सर्वोच्च न्यायालय कॉलेजियम ने बीते 9 मई को बॉम्‍बे हाईकोर्ट के न्यायाधीश न्यायमूर्ति भूषण रामकृष्ण गवई और हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति सूर्यकांत को पदोन्नत कर शीर्ष न्यायालय का न्यायाधीश बनाने की सिफारिश की थी.

इसके अलावा कॉलेजियम ने न केवल केंद्र की पुनर्विचार याचिका को खारिज कर दिया था, बल्कि साथ ही न्यायमूर्ति अनिरुद्ध बोस और न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना को भी पदोन्नत कर शीर्ष न्यायालय के न्यायाधीश बनाने की फिर से सिफारिश की थी.

अखिल भारतीय उच्च न्यायालय न्यायाधीशों की संयुक्त वरिष्ठता सूची में न्यायमूर्ति बोस 12वें स्थान पर हैं, जबकि न्यायमूर्ति बोपन्ना 36वें स्थान पर है.

दोनों न्यायाधीशों की 12 अप्रैल को कॉलेजियम द्वारा सर्वोच्च न्यायालय में पदोन्नति के लिए सिफारिश की गई थी. कॉलेजियम ने यह सिफारिश सर्वोच्च न्यायालय की पीठ में क्षेत्रीय प्रतिनिधित्व के साथ योग्यता, वरिष्ठता जैसे कारकों के विचार के बाद किया गया था.

कॉलेजियम ने कहा, हालांकि, केंद्र ने न्यायमूर्ति बोस व बोपन्ना को पदोन्नति देने की सिफारिश को खारिज कर दिया था, क्योंकि यह क्षेत्रीय प्रतिनिधित्व के सिद्धांत के खिलाफ जाएगा, लेकिन इसका मामले पर एक अलग दृष्टिकोण है.