राष्ट्रपति ने शिरडी एयरपोर्ट का उद्घाटन किया, मुंबई की उड़ान को हरी झंडी दिखाई

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ने कहा कि नया हवाईअड्डा श्रद्धालुओं और यात्रियों को मदद करेगा. इसके अलावा आर्थिक गतिविधियों को बढ़ाएगा और क्षेत्र में रोजगार सृजन करेगा. 

राष्ट्रपति ने शिरडी एयरपोर्ट का उद्घाटन किया, मुंबई की उड़ान को हरी झंडी दिखाई
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने नवनिर्मित शिरडी हवाई अड्डे का उद्घाटन किया और यहां से मुंबई जाने वाली पहली वाणिज्यिक उड़ान को रवाना किया. (फोटो साभार - @rashtrapatibhvn)

शिरडी : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले में नवनिर्मित शिरडी हवाई अड्डे का आज उद्घाटन किया और यहां से मुंबई जाने वाली पहली वाणिज्यिक उड़ान को रवाना किया. हवाई अड्डा सूत्रों ने बताया कि राष्ट्रपति का विमान नई दिल्ली से शिरडी हवाई अड्डा पर सुबह करीब 10:30 बजे उतरा. इसके फौरन बाद कोविंद ने हवाई अड्डा का उद्घाटन किया और एलायंस एयर की एक उड़ान को हरी झंडी दिखाई.

'नया हवाईअड्डा श्रद्धालुओं और यात्रियों को मदद करेगा'
कोविंद ने कहा कि नया हवाईअड्डा श्रद्धालुओं और यात्रियों को मदद करेगा. इसके अलावा आर्थिक गतिविधियों को बढ़ाएगा और क्षेत्र में रोजगार सृजन करेगा. एअर इंडिया की क्षेत्रीय इकाई एलायंस एयर शिरडी से मुंबई और हैदराबाद के लिए विमान सेवाएं संचालित करेगी.

एअर इंडिया ने एक बयान में बताया कि नागरिक विमानन मंत्री अशोक गजपति राजू और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने यात्रियों को बोर्डिंग पास दिया. इस अवसर पर एअर इंडिया के सीएमडी राजीव बंसल और वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे.

राजू ने ट्वीट किया, ‘‘एक नई शुरूआत. एलायंस एयर ने शनिवार को नया हवाईअड्डा से शिरडी के लिए मुंबई की पहली उड़ान शुरू की. बाबा का @एयरइंडिया पर आशीर्वाद बना रहे.’’ 

मुंबई से शिरडी के बीच रोजना उड़ान 
एयर इंडिया ने एक बयान में बताया कि 72 सीटों वाली एक उड़ान रोजाना मुंबई से शिरडी के बीच परिचालित होंगी. गौरतलब है कि शिरडी साई बाबा का प्रसिद्ध तीर्थस्थान है. यहां देशभर से लोग दर्शन के लिए आते हैं. एक अनुमान के अनुसार प्रतिदिन लगभग 60,000 लोग शिरडी में दर्शन करने आते हैं. हवाई अड्डा प्राधिकरण का इरादा इनमें से 10 से 12 प्रतिशत यात्री हासिल करने का है. यह साल साईं बाबा का 100वां पुण्य तिथि का वर्ष है.

इस हवाई अड्डे का स्वामित्व और विकास महाराष्ट्र हवाई अड्डा विकास कंपनी (एमएडीसी) ने किया है. यह राज्य में हवाई अड्डों का विकास करने वाली विशेष इकाई है.