राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री ने काबुल आत्मघाती हमले की निंदा की

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज काबुल में हुए आत्मघाती हमले की निंदा की और कहा कि भारत सभी तरह के आतंकवाद से निपटले में अफगानिस्तान के लोगों के साथ खड़ा है।

नई दिल्ली : राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज काबुल में हुए आत्मघाती हमले की निंदा की और कहा कि भारत सभी तरह के आतंकवाद से निपटले में अफगानिस्तान के लोगों के साथ खड़ा है।

प्रणब मुखर्जी ने अपने बयान में कहा, ‘मैं इस विस्फोट के बारे में जानकर स्तब्ध और दुखी हूं । मैं इस घटना को अंजाम देने वाले की कड़ी निंदा करता हूं। मैं इस घटना में मारे गए लोगों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं और घायलों के शीघ्र स्वस्थ्य होने की कामना करता हूं। भारत सरकार अफगानिस्तान के लोगों और वहां की सरकार को हर संभव मदद देने के लिए तत्पर है।’ 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने ट्वीट में कहा, ‘भारत सभी तरह के आतंकवाद का विरोध करने में अफगानिस्तान के साथ पूरे संकल्प के साथ खड़ा है।’ मोदी ने इस बर्बर हिंसा में जान गंवाने वाले और घायलों के प्रति संवेदना व्यक्त की।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने काबुल में जघन्य आतंकी हमले की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि पिछले एक महीने में दुनिया के विभिन्न शहरों को संगठित एवं बर्बर आतंकवाद का निशाना बनाया गया। उन्होंने कहा कि यह आतंकवाद एवं बांटने वाली ताकतों के खिलाफ निर्णायक लड़ाई में हमारे संकल्प को और मजबूत बनाता है, चाहे हम किसी आस्था या विश्वास के मानने वाले क्यों न हों। उन्होंने काबुल में मारे गए लोगों के प्रति शोक व्यक्ति किया और घायलों के जल्द स्वस्थ्य होने की कामना की। 

उल्लेखनीय है कि अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में हजारा शियाओं के एक विशाल प्रदर्शन के दौरान हुए धमाके में कम से कम 80 लोगों की मौत हो गई जबकि सैकड़ों लोग जख्मी हो गए। अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है।