सीमा पर जारी टेंशन, कोरोना संकट के बीच आज शाम 4 बजे देश को संबोधित करेंगे PM मोदी

देश में लगातार बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामले और उधर भारत-चीन सीमा पर जारी तनातनी के बीच पीएम का ये संबोधन काफी अहम माना जा रहा है.

सीमा पर जारी टेंशन, कोरोना संकट के बीच आज शाम 4 बजे देश को संबोधित करेंगे PM मोदी
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) मंगलवार को शाम 4 बजे देश को संबोधित करने वाले हैं. देश में लगातार बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामले और उधर भारत-चीन सीमा पर जारी तनातनी के बीच पीएम का ये संबोधन काफी अहम माना जा रहा है. साथ ही 1 जुलाई से देशभर में अनलॉक 2.0 की शुरुआत होने जा रही है. ऐसे में उम्मीद है कि पीएम 30 जून को अपने संबोधन में कुछ बड़े ऐलान कर सकते हैं. 

इससे पहले रविवार को 'मन की बात' के जरिए देश को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, 'एक साल में एक चुनौती आए या पचास, नंबर कम-ज्यादा होने से, वो साल, खराब नहीं हो जाता. भारत का इतिहास ही आपदाओं और चुनौतियों पर जीत हासिल कर, और ज्यादा निखरकर निकलने का रहा है.'

ये भी पढ़ें- #DigitalAirStrike: भारत की चीन पर डिजिटल स्‍ट्राइक, TikTok-Helo समेत 59 ऐप्स पर लगा बैन

पीएम ने कहा, 'हमारे कुछ पड़ोसियों द्वारा जो हो रहा है, देश उन चुनौतियों से भी निपट रहा है. वाकई, एक-साथ इतनी आपदाएं, इस स्तर की आपदाएं, बहुत कम ही देखने-सुनने को मिलती हैं.' 

उन्होंने कहा, 'अभी, कुछ दिन पहले, देश के पूर्वी छोर पर अम्फान तूफान आया, तो पश्चिमी छोर पर निसर्ग तूफान आया. कितने ही राज्यों में हमारे किसान भाई–बहन टिड्डी दल के हमले से परेशान हैं और कुछ नहीं, तो देश के कई हिस्सों में छोटे-छोटे भूकंप रुकने का ही नाम नहीं ले रहे हैं.'

ये भी देखें-

ये भी पढ़ें- मन की बात: PM मोदी ने कहा- भारत को आंख दिखाने वालों को करारा जवाब मिलेगा

उन्होंने कहा, 'भारत में जहां एक तरफ बड़े-बड़े संकट आते गए, वहीं सभी बाधाओं को दूर करते हुए अनेकों-अनेक सृजन भी हुए. नए साहित्य रचे गए, नए अनुसंधान हुए, नए सिद्धांत रचे गए, यानी संकट के दौरान भी हर क्षेत्र में सृजन की प्रक्रिया जारी रही और हमारी संस्कृति पुष्पित-पल्लवित होती रही.'