कोरोना से रिकवर हुए लोगों में गैंग्रीन और गंभीर सूजन जैसी समस्याएं आईं सामने, दिल्ली के इस अस्पताल में मिले 5 मरीज..

दिल्ली में कोरोना से ठीक हुए लोगों के गॉल ब्लैडर में गैंग्रीन की समस्या और गंभीर सूजन जैसे मामले सामने आए हैं. इस बीमारी के बारे में सर गंगाराम अस्पताल के डॉ. अरोड़ा ने सचेत करते हुए कहा कि बुखार के साथ-साथ उल्टी, और पेट दर्द के लक्षण नजर आने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें.

कोरोना से रिकवर हुए लोगों में गैंग्रीन और गंभीर सूजन जैसी समस्याएं आईं सामने, दिल्ली के इस अस्पताल में मिले 5 मरीज..
गॉल ब्लैडर में गैंग्रीन की समस्या के 5 मामले आए सामने

नई दिल्ली: कोरोना वायरस को भारत में अपने पैर पसारे 1.5 साल से ज्यादा का समय हो चुका है. इन 1.5 सालों में कोरोना संक्रमण के अलावा लोगों में अलग-अलग तरह की कई पोस्ट कोविड बीमारियां सामने आईं हैं. हाल ही में पोस्ट कोविड बीमारियों की इस कड़ी में कोविड से रिकवर हुए मरीजों के गॉल ब्लैडर में गैंग्रीन (Gangrene) जैसी गंभीर समस्याएं देखीं गई हैं.

दिल्ली में सामने आई गॉल ब्लैडर में गैंग्रीन की समस्या

दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल में कोविड से रिकवर हुए 5 मरीजों को बुखार, पेट में तेज दर्द और उल्टी की शिकायतें थी. जांच करने पर डॉक्टरों ने पाया कि इन मरीजों के गॉल ब्लैडर में गैंग्रीन की समस्या है. गंगाराम अस्पताल के इंस्टीट्यूट ऑफ लिवर एंड गेस्ट्रोएंट्रोलॉजी डिपार्टमेंट के प्रोफेसर डॉ अनिल अरोड़ा के मुताबिक कोविड से ठीक हुए मरीजों में इस तरह के मामले पहली बार देखे गए हैं. कोविड से रिकवर हुए जिन 5 मरीजों के गॉल ब्लैडर में गैंग्रीन की समस्या सामने आई है उनकी उम्र 37 साल से 75 साल के बीच की ही रही है.

कोविड की वजह से सामने आई समस्या

डॉ. अरोड़ा ने आगे बताया कि इन 5 में से 2 मरीजों को पहले से डाइबिटीज की शिकायत थी और 1 को हर्ट डिसीज भी थी. जब इन मरीजों का अल्ट्रासाउंड और MRI करवाया गया तो पता चला कि इन 5 मरीजों के गॉल ब्लैडर में गैंग्रीन के अलावा गंभीर सूजन भी थी और 5 में से 4 मरीजों की गैंग्रीन भी फट चुकी थी जिसके बाद इन मरीजों की तत्काल सर्जरी करने की जरूरत थी. डॉ. अरोड़ा ने बताया कि इस तरह की सूजन मुख्य रूप से बड़ा ऑपरेशन होने, गंभीर शारीरिक चोट लगने, जलने, ब्लड इन्फेक्शन और HIV के कारण होती है, लेकिन कोविड की वजह से ऐसी गंभीर सूजन भी पहली बार देखी गई है.

यह भी पढ़ें: अंतिम चरण में राम मंदिर की नींव का काम, 2023 तक भक्त कर सकेंगे रामलला के दर्शन

ये लक्षण दिखने पर करें डॉक्टर से संपर्क

इस समस्या पर गंगा राम अस्पताल के ही गैस्ट्रोएंटरोलॉजी विभाग के सीनियर कंसल्टेंट डॉ. प्रवीण शर्मा कहते हैं कि अगर कोविड से रिकवर हुए किसी भी मरीज को बुखार के साथ-साथ उल्टी, और पेट दर्द के लक्षण नजर आते हैं तो वो तुरंत डॉक्टर के पास जाकर अपनी जांच जरूर करवाएं, जिससे वो इस तरह की समस्याओं के गंभीर रूप में पहुंचने से पहले ही उसे रोक सकें और उन्हें सही समय पर सही इलाज भी मिल सके.

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.