close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

विजयादशमी पर IAF को मिला राफेल, राजनाथ सिंह ने भरी पहली उड़ान

राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) पूरी तरह से एक फाइटर पायलट की तरह ड्रेसअप होकर दुनिया के सबसे तेज-तर्रार फाइटर प्लेन राफेल (Rafale) में सवार हो गए और आसमान में हवा से बातें की.

विजयादशमी पर IAF को मिला राफेल, राजनाथ सिंह ने भरी पहली उड़ान
रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने राफेल में भरी उड़ान.

पेरिस: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने भारत के लिए पहला राफेल (Rafale) लड़ाकू विमान फ्रांस से रिसीव किया. विजयादशमी पर राफेल (Rafale) को रिसीव करने के बाद रक्षामंत्री ने पूरे विधि-विधान से इसकी शस्त्र पूजा की. इसके बाद राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) इसकी पहली उड़ान पर निकल पड़े. राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) पूरी तरह से एक फाइटर पायलट की तरह ड्रेसअप होकर दुनिया के सबसे तेज-तर्रार फाइटर प्लेन राफेल (Rafale) में सवार हो गए और आसमान में हवा से बातें की. करीब 35 मिनट की उड़ान भरने के बाद राजनाथ सिंह धरती पर लौटे और पूरे शान के साथ राफेल से बाहर निकले. वह काफी खुश दिख रहे थे. उनके चेहरे की मुस्कान बयां कर रही थी कि उन्हें राफेल की उड़ान में काफी आनंद आया. राफेल से उतरते वक्त एयरपोर्ट के कर्मचारियों ने उन्हें सहारा देने के इरादे से अपना हाथ बढ़ाया, लेकिन भारत के रक्षामंत्री ने मना कर दिया और खुद से एक मंजे हुए पायलट की तरह राफेल से बाहर निकले.

इससे पहले राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने पूरे विधि-विधान से राफेल (Rafale) की पूजा की. उन्होंने राफेल (Rafale) पर नारियल चढ़ाया, उसपर फूल अर्पित किया. राफेल (Rafale) के विंग में धागा बांधा और उसपर ऊं लिखा. उसके पहिए के नीचे फल रखे गए. 

इसके अगले ही पल राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) पूरी तरह से पायलट की वेश-भूषा में तैयार होकर आ गए. इन दोनों बातों के जरिए राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) दुनिया को संदेश देने की कोशिश कर रहे थे कि भारत अपनी अच्छी परंपराओं को बनाए रखते हुए आधुनिक अस्त्र-शस्त्र से लैस देश है.

लाइव टीवी देखें-:

इससे पहले राफेल (Rafale) (Rafale) रिसीव करने से पहले रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने अपने संबोधन भाषण में कहा कि तय समय पर राफेल (Rafale) (Rafale) मिलना खुशी की बात है. भारतीय सुरक्षा बलों के लिए आज ऐतिहासिक दिन है. राफेल (Rafale) (Rafale) के आने से भारत की शक्ति बढ़ेगी. इस डील से भारत और फ्रांस के रिश्ते को एक नया मुकाम मिलेगा.

ये भी पढ़ें: भारत को राफेल मिलने से क्यों कांप रहे हैं दुश्मन, विस्तार से यहां समझिए

राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने कहा, 'ये भारतीय वायुसेना के लिए ऐतिहासिक दिन है. आज भारत में दशहरे का उत्सव है. आज 87वां एयर फोर्स डे भी है. मुझे प्रसन्नता है. समय से राफेल (Rafale) की डिलीवरी हो रही है. राफेल (Rafale) हमारी एयरफोर्स की ताकत बढ़ाएगा. हमें विश्वास है राफेल (Rafale) की डिलीवरी टाइमलाइन को पूरा किया जाएगा. थोड़ी देर में मैं राफेल (Rafale) से उड़ान भरूंगा. ये मेरे लिए खुशी की बात होगी. मुझे बताया गया है. राफेल (Rafale) का हिंदी में मतलब आंधी होता है. इस डील से इंडो फ्रांस के संबंध और मजबूत होंगे.'

एक नजर में राफेल (Rafale) (Rafale) की खूबियां
- राफेल (Rafale) (Rafale) विमान एक बार में करीब 26 टन (26 हजार किलोग्राम) वजन ले जा सकता है.
- यह विमान 3,700 किलोमीटर के रेडियस में कहीं भी हमला करने में सक्षम है.
- यह 36 से 60 हजार फीट की ऊंचाई तक उड़ान भर सकता है और यहां तक महज एक मिनट में पहुंच सकता है.
- एक बार फ्यूल भरने पर यह लगातार 10 घंटे की उड़ान भर सकता है.
- इस विमान से हवा से जमीन और हवा से हवा में दोनों में हमला किया जा सकता है.
- राफेल (Rafale) (Rafale) पर लगी गन एक मिनट में 125 फायर करने में सक्षम है और यह हर मौसम में लंबी दूरी के खतरे को भांप लेता है.

देखें राजनाथ सिंह ने कैसे की राफेल की शस्त्र पूजा-: