HAL कर्मचारियों से मिले राहुल गांधी, कहा- राफेल मुद्दे को देश भर में गली-गली तक ले जाएंगे

राहुल गांधी ने हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड को सामरिक संपत्ति बताते हुए मोदी सरकार पर इसे नष्ट करने का आरोप लगाया.

HAL कर्मचारियों से मिले राहुल गांधी, कहा- राफेल मुद्दे को देश भर में गली-गली तक ले जाएंगे
HAL पर कोई कर्ज नहीं है, जबकि अनिल अंबानी पर 45 हजार करोड़ का कर्ज है- राहुल गांधी.

बेंगलुरू: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल सौदे को लेकर मोदी सरकार के खिलाफ अपना हमला तेज करते हुए शनिवार को कहा कि उनकी पार्टी इस मुद्दे को देश भर में गली-गली तक ले जाएगी. राहुल ने हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) को एयरोस्पेस के क्षेत्र में एक ‘‘सामरिक संपत्ति’’ बताते हुए मोदी सरकार पर इस सरकारी कंपनी को नष्ट करने का भी आरोप लगाया. उन्होंने एचएएल के कर्मचारियों से कहा, ‘‘राफेल आपका अधिकार है.’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘हम इस मुद्दे को भारत की गली-गली में ले जाएंगे, हम एचएएल के साथ खड़े होंगे और यह लड़ाई लड़ेंगे, हम वायुसेना के साथ खड़े होंगे और यह लड़ाई लड़ेंगे.’’ राफेल सौदे के खिलाफ अपने अभियान को एक नया रूख देते हुए राहुल ने एचएएल के मौजूदा एवं पूर्व कर्मचारियों से यहां संपर्क साधने की कोशिश की और आरोप लगाया कि आधुनिक भारत के संस्थानों पर हमला किया जा रहा तथा उन्हें नष्ट किया जा रहा. उन्होंने कहा, ‘‘हम ऐसा नहीं होने दे सकते.’’ 

Rahul Gandhi meets HAL employees slams Modi Govt Rafale deal

उन्होंने कहा, ‘‘राफेल आपका अधिकार है, आप 78 साल पुरानी कंपनी है.’’ कांग्रेस अध्यक्ष ने इस सरकारी कंपनी के पूर्व एवं मौजूदा कर्मचारियों से बातचीत के बाद एचएएल मुख्यालय के पास मिंस्क स्कवायर में आयोजित एक कार्यक्रम में कहा कि आपके पास विमान बनाने का अनुभव है. उन्होंने कहा, ‘‘आप 70 साल से अधिक समय से काम करते आ रहे हैं. यदि कोई यह सोचता है कि वे आपकी कब्र पर खड़े हो कर अपना भविष्य बना सकते हैं, तो ऐसा होने नहीं दिया जाएगा.’’ 

उन्होंने कहा कि सरकार का यह कहना पूरी तरह से हास्यास्पद है कि एचएएल के पास जरूरी अनुभव नहीं है. राहुल ने संवाददाताओं से बात करते हुए रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण पर आरोप लगाया कि वह फ्रांस गई हैं ताकि वहां इसे (सौदे में कथित भ्रष्टाचार को) ढंका जा सके, लेकिन ऐसा नहीं होगा क्योंकि सच्चाई सामने आ रही है. उन्होंने कहा, ‘‘हम उस हर एक व्यक्ति के साथ खड़े होंगे, जो भारत की रक्षा कर रहा है.’’ 

Rahul Gandhi meets HAL employees slams Modi Govt Rafale deal

यह पूछे जाने पर कि क्या उनके कहने का यह मतलब है कि राफेल सौदे में भ्रष्टाचार हुआ है, उन्होंने कहा, ‘‘मैं बहुत स्पष्ट रूप से कह रहा हूं कि भ्रष्टाचार हुआ है, रिश्वतखोरी हुई है, 30,000 करोड़ रूपये लिए गए और अनिल अंबानी को दिए गए तथा यह इन लोगों (एचएएल के कर्मचारियों) से छीना गया.’’ 

कार्यक्रम के बाद राहुल ने संवाददाताओं से कहा कि रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण एचएएल के पास अनुभव की कमी के बारे में बात करती हैं लेकिन क्या उन्होंने अनिल अंबानी के अनुभव के अभाव के बारे में कुछ कहा है, ‘‘जिन्होंने अपने जीवन में कभी एक विमान तक नहीं बनाया है.’’

उन्होंने कहा, ‘‘एचएएल का कोई कर्ज नहीं है जबकि उन पर (अनिल अंबानी पर) 45,000 करोड़ रूपये का कर्ज है. एचएएल 78 साल से काम कर रही है. वहीं, उनकी (अनिल अंबानी की) कंपनी 12 दिन पुरानी है. इसलिए उन्होंने (सीतारमण) ने उस व्यक्ति के खिलाफ कोई टिप्पणी नहीं की जिसे अनुबंध मिला है. उन्हें एचएएल के अनुभव के बारे में बोलना होगा.’’ 

(इनपुट-भाषा)