राहुल गांधी ने नॉर्थ-ईस्ट चुनावों में कांग्रेस की हार पर 2 दिन बाद किया कमेंट

त्रिपुरा, मेघालय और नागालैंड विधानसभा चुनावों के नतीजे आने के दो दिन बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इसपर अपनी प्रतिक्रिया दी है.

राहुल गांधी ने नॉर्थ-ईस्ट चुनावों में कांग्रेस की हार पर 2 दिन बाद किया कमेंट
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि नॉर्थ ईस्ट में उनकी पार्टी वापसी करेगी. तस्वीर साभार: PTI

नई दिल्ली: त्रिपुरा, मेघालय और नागालैंड विधानसभा चुनावों के नतीजे आने के दो दिन बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इसपर अपनी प्रतिक्रिया दी है. राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, 'त्रिपुरा, नागालैंड, और मेघालय के जनादेश का कांग्रेस पार्टी सम्मान करती है. हम पूर्वोत्तर में पार्टी की मजबूती और जीत के साथ वापसी करने के लिए कटिबद्ध हैं. पार्टी की ओर से हरेक कांग्रेस कार्यकर्ता को शुक्रिया.' मालूम हो कि नागालैंड और त्रिपुरा में कांग्रेस का कोई उम्मीदवार नहीं जीत पाया है. मेघालय में 21 सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी बनने के बाद भी कांग्रेस यहां सरकार बनाने में नाकाम रही है.

नानी से मिलने इटली चले गए थे राहुल गांधी
मालूम हो कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने होली सप्ताहांत में अपनी नानी से मिलने इटली गए थे. राहुल गांधी ने ट्वीट कर इसकी घोषणा की थी. उन्होंने कहा था, ‘मेरी नानी 93 वर्ष की हैं. वह हमेशा से ही बहुत स्नेही रही हैं.’ उन्होंने कहा, ‘इस होली सप्ताहांत मैं उन्हें हैरान करने वाला हूं. उनसे मिलने को बेताब हूं.’ राहुल ने देशवासियों को होली की बधाई देते हुए कहा, ‘‘आप सभी को होली की शुभकामनाएं. खुशियों के साथ त्योहार मनाइये.’ राहुल की नानी इटली में रहती हैं.

कांग्रेस के खराब प्रदर्शन पर योगी ने कसा था राहुल पर तंज
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने त्रिपुरा समेत तीन पूर्वोत्तर राज्यों में बीजेपी की ऐतिहासिक सफलता पर खुशी जाहिर करते हुए तंज किया कि राहुल गांधी के अध्यक्ष बनने के बाद कांग्रेस पार्टी पांच राज्यों में चुनाव हार चुकी है तथा उनका यह रिकॉर्ड और तेजी के साथ आगे बढ़ेगा.

ये भी पढ़ें:  राहुल गांधी के इटली दौरे पर कांग्रेस का बीजेपी से सवाल, क्या नानी के घर जाना क्राइम है

योगी ने कहा कि देश के पूर्वोत्तर राज्यों त्रिपुरा, नगालैंड और मेघालय में भाजपा और उसके गठबंधन को जो ऐतिहासिक सफलता मिली है उसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और पूर्वोत्तर के उन तमाम कार्यकर्ताओं को बधाई, जिन्होंने विषम परिस्थितियों में इन पूर्वोत्तर राज्यों में कमल खिलाने में कामयाबी हासिल की.

उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर करारा प्रहार करते हुए कहा "राहुल अध्यक्ष बनने के बाद पांच राज्यों में चुनाव हार चुके हैं उनका यह रिकॉर्ड और तेजी के साथ आगे बढ़ेगा." योगी ने गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उपचुनाव में मायावती की अगुवाई वाली बसपा द्वारा सपा को समर्थन दिए जाने की प्रबल संभावनाओं के बारे में पूछे जाने पर कहा कि केले और बेर का कोई मेल नहीं होता.

उन्होंने सपा का नाम लिए बगैर बसपा की दुखती रग पर हाथ रखते हुए कहा "यह किसी से छुपा नहीं है कि गेस्ट हाउस कांड किसने किया और स्मारकों को और मायावती सरकार द्वारा बनवाए गए स्मारकों को ध्वस्त करने की चेतावनी कौन लोग दे रहे थे." मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्वोत्तर राज्यों में भाजपा की जीत के बहुत मायने हैं. प्रधानमंत्री ने विकास और सुशासन को अपना एजेंडा शुरू से ही बनाया और अरसे से विकास के मामले में उपेक्षित पूर्वी भारत को भी विकास की प्रक्रिया की तरफ मोड़ा.

ये भी पढ़ें: जज लोया की संदिग्ध मौत: SC ने याचिकाकर्ता को चेताया, ना हो सोहराबुद्दीन एनकाउंटर का ज्रिक

उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर राज्यों के चुनाव परिणाम राष्ट्रीय अखंडता के लिए भी बेहद महत्वपूर्ण है. इस जीत ने एहसास कराया है कि जाति, मत और मजहब के आधार पर समाज को बांट कर कोई भी व्यक्ति सार्वजनिक जीवन में बहुत दिन तक टिक नहीं सकता.

योगी ने कहा कि इतिहास में पहली बार वामपंथ के किसी गढ़ को भाजपा कार्यकर्ताओं ने ध्वस्त कर वहां विकास के रंग यानी केसरिया को आच्छादित कर दिया है.

उन्होंने विश्वास जताया कि पूर्वोत्तर में मिली चुनावी सफलता का प्रभाव कर्नाटक केरल पश्चिम बंगाल और उड़ीसा के आगामी विधानसभा चुनाव पर भी पड़ेगा और भाजपा के विकास तथा सुशासन के लक्ष्य को आगे करते हुए प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के कुशल रणनीति के तहत पार्टी इन राज्यों में भी पार्टी विजय पताका फहराएगी.