चंद्रयान 2: राहुल ने ISRO के वैज्ञानिकों से कहा- आपकी मेहनत ने कई अंतरिक्ष मिशनों की बुनियाद रख दी है

राहुल ने कहा, 'ISRO की टीम को चंद्रयान-2 मून मिशन पर शानदार काम के लिए बधाई. आपका जुनून और समर्पण प्रत्येक भारतीय के लिए एक प्रेरणा है.' 

चंद्रयान 2: राहुल ने ISRO के वैज्ञानिकों से कहा- आपकी मेहनत ने कई अंतरिक्ष मिशनों की बुनियाद रख दी है
राहुल गांधी (फाइल फोटो साभार@rahulgandhi)

नई दिल्ली: चंद्रमा की सतह पर उतरते समय लैंडर विक्रम से ISRO का संपर्क टूट जाने के कुछ मिनट बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अंतरिक्ष एजेंसी को शानदार कार्य के लिए बधाई थी और कहा कि यह प्रत्येक भारतीय के लिए एक प्रेरणा है. बता दें चंद्रयान-2’ के लैंडर ‘विक्रम’ का चांद पर उतरते समय जमीनी स्टेशन से संपर्क टूट गया. सपंर्क तब टूटा जब लैंडर चांद की सतह से 2.1 किलोमीटर की ऊंचाई पर था.

राहुल ने ट्वीट किया, 'ISRO की टीम को चंद्रयान-2 मून मिशन पर शानदार काम के लिए बधाई. आपका जुनून और समर्पण प्रत्येक भारतीय के लिए एक प्रेरणा है.' विक्रम को चंद्रमा की सतह के करीब तक पहुंचाने में ISRO की टीम के प्रयासों की सराहना करते हुए राहुल ने कहा, 'आपका का काम बेकार नहीं जाएगा. इसने कई बेजोड़ और महत्वाकांक्षी भारतीय अंतरिक्ष मिशनों की बुनियाद रखी है.'

Rahul Gandhi says Congratulations to the team at ISRO for their incredible work on the Chandrayaan 2

गौरतलब है कि विक्रम लैंडर को रात लगभग 1 बजकर 38 मिनट पर चांद की सतह पर लाने की प्रक्रिया शुरू की गई, लेकिन चांद पर नीचे की तरफ आते समय चांद की सतह से 2.1 किलोमीटर की ऊंचाई पर जमीनी स्टेशन से इसका संपर्क टूट गया. ‘विक्रम’ ने ‘रफ ब्रेकिंग’ और ‘फाइन ब्रेकिंग’ चरणों को कामयाबी के साथ पूरा कर लिया, लेकिन ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ से पहले इसका संपर्क धरती पर मौजूद स्टेशन से टूट गया.