जयपुर: मीटर में छेद कर चोरी करने वालों पर बड़ी कार्रवाई, लगाया गया 1.24 करोड़ रुपये का जुर्माना

डिस्कॉम के इतिहास में सबसे बड़ी पेनल्टी लगाई गई है. आरोपी बिल में छेद कर विद्युत चोरी कर रहे थे. जांच के बाद फर्म पर लगाया 1.24 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया है.

जयपुर: मीटर में छेद कर चोरी करने वालों पर बड़ी कार्रवाई, लगाया गया 1.24 करोड़ रुपये का जुर्माना
यह डिस्कॉम की अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई है.

जयपुर: प्रदेश की बिजली कंपनियां अब उपभोक्ताओं पर सख्ती बरत रही हैं. बकाया बिजली बिल की वसूली के साथ ही चोरों पर सख्ती बरती जा रही है. हालिया मामला मेड़ता के पास लांबा गांव में संत सेवादास कॉटन जिनिंग का है. 

डिस्कॉम के इतिहास में सबसे बड़ी पेनल्टी लगाई गई है. आरोपी बिल में छेद कर विद्युत चोरी कर रहे थे. जांच के बाद फर्म पर लगाया 1.24 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया है. विभाग इस समय बढ़ती छीजत और बिजली चोरी से घाटे का सामना कर रहा हैं, वहीं करीब 6000 करोड़ रुपये की बिजली बिल की राशि भी बकाया चल रही है. पानी, पुलिस, बीएसएनएल सहित कई बड़े सरकारी विभाग भी डिस्कॉम्स का बकाया नहीं चुका रहे हैं. आने वाले दिनों में इन पर भी सरकारी डंडा चल सकता है.  

बिजली चोरों पर सख्त महकमा
बढ़ते घाटे और आला अधिकारियों की जयपुर मुख्यालय में लगातार रिव्यू बैठकों के बाद विभागीय अधिकारी एक्शन में आए हैं. प्रदेशभर में बड़े बकाएदारों से वसूली जारी है, वहीं बिजली चोरी कर विभाग को चपत लगा रहे चोरों पर भी शिंकजा कसा है.

बिजली चोर जयपुर, अजमेर और जोधपुर डिस्कॉम में अलग अलग तरीके अपना रहे हैं. हालिया मामले में अजमेर विद्युत वितरण निगम ने मेड़ता में चोरी का एक नया तरीका पकड़ा है. मेड़ता ग्रामीण पास ग्राम लांबा में संत सेवादास कॉटन जिनिंग द्वारा मीटर में चोरी पकड़ी है. फर्म पर 1.24 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया है.

मीटर में छेद कर चोरी
अजमेर विद्युत वितरण निगम के मुख्य अभियंता एन एस निर्वाण ने बताया कि मेड़ता के पास लांबा गांव में संत सेवादास कॉटन जिनिंग के औद्योगिक कनेक्शन में संदेह के आधार पर मीटर जब्त किया गया था. अजमेर स्थित मीटर लैब में जांच करवाने पर मीटर में छेद करके विद्युत चोरी करना साबित हुआ है. फर्म पर एक करोड़ 24 लाख का जुर्माना निर्धारण किया गया है और कनेक्शन काटकर विद्युत थाना नागौर में मुकदमा दर्ज करवाया जा रहा है. कार्यवाही में अधिशाषी अभियंता मेड़ता के आर मीना के साथ अधिशाषी अभियंता मीटर शाखा किशनगढ़ उदय माचीवाल, संबंधित सहायक अभियंता मेड़ता भवानी सिंह शेखावत व सतर्कता टीम साथ में रही.

यह डिस्कॉम की अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई है. कम उपभोग के आधार पर इस खंड के 2 बड़े औद्योगिक उपभोक्ता संत सेवादास तथा मिलन कोटेक्स को चिन्हित कर मुख्य अभियंता अजमेर श्री एन एस निर्वाण ने जांच के आदेश दिए थे. उपभोक्ता को धारा 135 व 138 के तहत कार्रवाई करते हुए नोटिस दिया गया है. बिजली महकमा आने वाले दिनों में प्रदेशभर में कड़ी कार्रवाई कर सकता है.