शादियों में 101 मेहमान का मतलब अपशगुन, लगेगा 25 हजार का जुर्माना

आज देवउठनी एकादशी (Dev Uthani Ekadashi) है. सैकडों जोडे आज एक-दूसरे के हमसफर बनेंगे. 

शादियों में 101 मेहमान का मतलब अपशगुन, लगेगा 25 हजार का जुर्माना
फाइल फोटो

जयपुर: आज देवउठनी एकादशी (Dev Uthani Ekadashi) है. सैकडों जोडे आज एक-दूसरे के हमसफर बनेंगे. देवउठनी एकादशी के साथ बुधवार से सावे अनलॉक हो गए हैं. कोरोना संक्रमण (Coronavirus) रोकने के लिए ऐसा पहली बार हो रहा है जब ना सड़कों पर बाराती हैं ना ही बैंड बाजों की धुन सुनाई दे रही हैं और शादी में मेहमानों की संख्या भी सिर्फ 100 ही होगी. क्योंकि राज्य सरकार ने भी बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते शादियों में अधिकतम 100 मेहमानों को ही बुलाने की पाबंदी लगाई है.

इससे ज्यादा मेहमान बुलाए तो 25 हजार रुपए जुर्माना हो सकता है. नाइट कफ्यू होने के चलते कुछ जगहों पर दिन में ही फेरे हो रहे हैं. तो कुछ जगहों पर शाम को विवाह स्थल शादियों से गुलजार होंगे. विवाह स्थलों पर कोरोना गाइडलाइन के अनुसार गेट पर सेनेटाइजर और थर्मल स्कैनर से ट्रेंपरेचर नापा जा रहा है. साथ में मास्क लगाने के बाद ही एंट्री दी जा रही है. जयपुर जिले में करीब पांच हजार से ज्यादा शादियां हो रही हैं.

कोरोना गाइडलाइन के अनुसार वर और वधु पक्ष से 100 लोग ही मान्य है. प्रवेश द्वार पर थर्मल स्क्रीनिंग, मेहमानों के नाम, मोबाइल नंबर एवं उनके शरीर के तापमान रिकॉर्ड भी रखा जा रहा हैं. ताकि टीम द्वारा मांगे जाने पर दिया जा सके. समारोह में 2 गज की दूरी रखकर ही सीटिंग व्यवस्था करनी होगी. प्रवेश-निकासी द्वार और कॉमन एरिया में हैंड वाश और सैनेटाइजर की व्यवस्था रखनी होगी. आयोजन की वीडियोग्राफी करवानी होगी. ताकि टीम के मांगे जाने पर दी जा सके. जांच करने वाली टीम अपने स्तर पर भी वीडियोग्राफी करवा सकेंगी. कार्यक्रम में समय बैचेज में बांटकर भी 100 से ज्यादा व्यक्तियों को नहीं बुलाया जा सकेगा. 

ये भी पढ़े: कोरोना के चलते जयपुर एयरपोर्ट पर लागू हुए नए नियम, बिना निगेटिव रिपोर्ट एंट्री बंद