राजस्थान: दो थाना प्रभारियों की बातचीत से फिर खड़े हुए पुलिस महकमे पर सवाल...

मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी मृदुल कच्छावा ने आईजी भरतपुर रेंज लक्ष्मण गौड़ से दोनों थाना प्रभारियों को निलंबित करने का आदेश दिया है.

राजस्थान: दो थाना प्रभारियों की बातचीत से फिर खड़े हुए पुलिस महकमे पर सवाल...
मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी मृदुल कच्छावा ने आईजी भरतपुर रेंज लक्ष्मण गौड़ से दोनों थाना प्रभारियों को निलंबित करने का आदेश दिया.

धौलपुर: राजस्थान के धौलपुर में दो थाना प्रभारियों की अवैध और काली कमाई का वीडियो सोशल मीडिया (Social Media) पर वायरल हो रहा है. इस वायरल ऑडियो ने पुलिस की छवि और साख को और धूमिल कर दिया है. वहीं, मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी मृदुल कच्छावा ने आईजी भरतपुर रेंज लक्ष्मण गौड़ से दोनों थाना प्रभारियों को निलंबित करने का आदेश दिया.

इधर, मामले की जांच अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेंद्र वर्मा को सौंपी गई है. जानकारी के मुताबिक, कोलारी थाना प्रभारी रामनिवास मीणा और दिहोली थाना प्रभारी आशुतोष चारण का ड्यूटी के दौरान का ऑडियो वायरल हुआ है. दरअसल, कौलारी थाना प्रभारी शहर की राठौर कॉलोनी पर कोरोना (Corona) संक्रमण को लेकर लगाए गए कर्फ्यू में ड्यूटी दे रहे थे.

इसी दौरान, थाना प्रभारी रामनिवास मीणा और आशुतोष चारण की बातचीत शुरू हुई. बातचीत के दौरान कौलारी थाना प्रभारी रामनिवास मीणा के हाथ में लगे मोबाइल से पुलिस का पीसीआर ग्रुप खुल गया और ऑडियो रिकॉर्डिंग का ऑप्शन दब गया. इस बीच, दोनों थाना प्रभारियों की अवैध और काली कमाई को लेकर चर्चा हुई. इसके बाद ऑडियो पुलिस की पीसीआर ग्रुप पर वायरल हो गया.

इस वायरल ऑडियो के अंतर्गत दिहोली थाना प्रभारी आशुतोष चारण, कौलारी थाना प्रभारी रामनिवास मीणा को बोल रहे हैं कि, तू तो खूब मजे ले रहा है, कौलारी थाना प्रभारी जवाब देते हुए बोला, बाप कसम कुछ नहीं ले रहा, भगवान कसम 9 महीने में धेला भी नहीं मिला है, 6 महीने में 6 लाख भी नही आए, फिर बोलता है कुछ है ही नहीं, फिर आशुतोष बोलता है जुआ भी बंद करा दिया इसके दोस्त सुमन भाई ने, सुमन तेरे पीछे पड़ रहा है, रामनिवास को लात मार सकता है, क्यूआरटी टीम में उसको एक जुएं से 1000 से 1200 तक मिलते हैं. वायरल हुए ऑडियो ने पुलिस की काली करतूत को जिले में उजागर कर दिया है.

वही, ये पुलिस के पीसीआर ग्रुप पर ऑडियो वायरल होने के बाद सोशल मीडिया पर भी जमकर वायरल हो रहा है. इधर, एसपी मृदुल कच्छावा ने कहा कि आईजी भरतपुर रेंज लक्ष्मण गोड़ के आदेश के बाद दोनों थाना प्रभारियों को निलंबित कर दिया है. मामले की जांच अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेंद्र वर्मा को सौंपी गई है. जो भी तथ्य सामने आएंगे उसी के मुताबिक आगे की कार्रवाई को अंजाम दिया जाएगा.