सब इंस्पेक्टर भर्ती 2016 में कम किए गए 227 पद, बेरोजगार बैठे आमरण अनशन पर

राजस्थान पुलिस में सब इंस्पेक्टर भर्ती 2016 में कम किए गए 227 पदों को फिर से जोड़ने की मांग को लेकर लगातार आंदोलन तेज होता जा रहा है.

सब इंस्पेक्टर भर्ती 2016 में कम किए गए 227 पद, बेरोजगार बैठे आमरण अनशन पर
बेरोजगार शहीद स्मारक पर पहुंचकर आमरण अनशन पर बैठ गए.

जयपुर: राजस्थान पुलिस में सब इंस्पेक्टर भर्ती 2016 में कम किए गए 227 पदों को फिर से जोड़ने की मांग को लेकर लगातार आंदोलन तेज होता जा रहा है. प्रदेशभर से आज बड़ी संख्या में वंचित बेरोजगार शहीद स्मारक पर पहुंचकर आमरण अनशन पर बैठ गए, जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने धारा 144 और निगम चुनाव की आचार संहिता का हवाला देकर आमरण अनशन पर बैठे वंचित बेरोजगारों को शहीद स्मारक हटने की बात कही. 

ये भी पढ़ें: राजस्थान के खिलाड़ियों के वारे-न्यारे, सीएम गहलोत ने दी बड़ी सौगात

वंचित अभ्यर्थियों ने आमरण अनशन के दौरान महात्मा गांधी की तस्वीर को लेकर शांतिपूर्ण धरने का संदेश भी दिया. गौरतलब है कि साल 2016 में एसआई के 330 पदों पर भर्ती निकाली गई थी, लेकिन भर्ती में संशोधन करते हुए पदों की संख्या 721 की गई, लेकिन दस्तावेज सत्यापन के बाद साक्षात्कार से ठीक पहले नियमों का हवाला देते हुए 227 पदों को कम कर दिया गया, जिसके बाद से ही नियुक्ति से वंचित रहे बेरोजगार सरकार से पदों को फिर से जोड़ने की मांग कर रहे हैं.

राजस्थान युवा हल्ला बोल अध्यक्ष ईरा बोस ने बताया कि 'पहले पदों को बढ़ाया और फिर नियमों का हवाला देते हुए पदों को कर किया, जिसके चलते नियुक्ति प्रक्रिया से 227 चयनित अभ्यर्थी बाहर हुए हैं. इसलिए सरकार इन पदों को फिर से जोड़े." भर्ती से वंचित रहे अभ्यर्थी हेमंत कुमार ने बताया कि "पदों को बढ़ाने के बाद फिर से आवेदन खोले गए थे, जिसके बाद करीब डेढ़ गुना अभ्यर्थी भर्ती में बढ़ गए थे. अभ्यर्थी तो बढ़े लेकिन पदों को कम किया गया. इसलिए हमारी सिर्फ इतनी सी मांग है कि एक बार मुख्यमंत्री को पीड़ित बेरोजगार अपनी पीड़ा बताना चाहते हैं, जिसके बाद मुख्यमंत्री जो भी फैसला लेंगे हमे मंजूर होगा."

ये भी पढ़ें: BJP लगातार Congress पर आक्रामक, अब UDH मंत्री शांति धारीवाल ने किया पलटवार