Rajasthan में 23 हजार नई सरकारी नौकरियां, रोजगार के निकले सुनहरे अवसर

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने अपने तीसरे कार्यकाल के तीन बजट में एक बार फिर से बेरोजगारों के लिए रोजगार (Employment) का पिटारा खोला है.

Rajasthan में 23 हजार नई सरकारी नौकरियां, रोजगार के निकले सुनहरे अवसर
प्रतीकात्मक तस्वीर

Jaipur: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने अपने तीसरे कार्यकाल के तीन बजट में एक बार फिर से बेरोजगारों के लिए रोजगार (Employment) का पिटारा खोला है. 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अगले 23 हजार नई भर्तियों की घोषणा की है. ऐसे में रोजगार की आस देख रहे बेरोजगारों की उम्मीदों को जल्द ही पंख लगेंगे. वित्त और विनियोग विधेयक पर बहस के जवाब के दौरान सीएम गहलोत ने विधानसभा में विपक्ष पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि राजस्थान में सरकार बनने के बाद अब तक लगभग 1 लाख नौकरियां दी जा चुकी है. उन्होंने कहा कि नेता प्रतिपक्ष ने सदन में नौकरियों को लेकर जो आंकड़े बताएं हैं वह गलत हैं.

यह भी पढ़ें- Rajasthan के इस विभाग में निकली बंपर भर्तियां, 23 मार्च से पहले ही कर दें Apply!

प्रदेश सरकार के बजट में एक बार फिर से नौकरी (Rajasthan Sarkari Naukri 2021) की सौगात का पिटारा खुला है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्य सरकार (State Government) के बजट में विभिन्न विभागों में 23 हजार पदों पर नई भर्तियों की घोषणा की है. इसमें सबसे ज्यादा पदों पर शिक्षा विभाग में भर्ती प्रक्रिया शुरू होगी तो वहीं अन्य विभागों में भी बम्पर भर्तियों की सौगात दी गई है.

अन्य भर्तियों की घोषणा को पूरा करने की उठी मांग
अपने बजट भाषण में मुख्यमंत्री द्वारा विभिन्न विभागों में की गई 50 हजार पदों पर भर्ती (Government Jobs in Rajasthan) की घोषणा की थी. उसके बाद अब सभी ओर इसकी प्रशंसा हो रही है, लेकिन साथ ही मांग उठने लगी है कि नई भर्तियों के साथ ही पिछले दो सालों में की गई अन्य भर्तियों की घोषणा को भी जल्द पूरा किया जाना चाहिए. 

शिक्षाविद और व्याख्याता पंकज ओसवाल (Pankaj Oswal) का कहना है कि "स्कूल शिक्षा और उच्च शिक्षा में लगातार बद खाली होने के चलते समस्या का सामना करना पड़ रहा है हालांकि शिक्षा विभाग में 19 हजार पदों पर भर्ती की घोषणा हुई है, लेकिन अगर उच्च पदों की बात की जाए तो वो लगातार खाली होते जा रहे हैं. ऐसे में भर्तियों के साथ ही पदोन्नति की ओर भी सरकार को ध्यान देना चाहिए, जिससे शिक्षा का स्तर सुधर सके."

यह भी पढ़ें- Rajasthan की बिजली कंपनियों में अटकी 9 हजार पदों पर भर्ती प्रक्रिया, बेरोजगार परेशान