जयपुर: अनलॉक में धड़ल्ले से जारी है सोने की तस्करी, 24 लाख के गोल्ड संग 2 तस्कर गिरफ्तार

कुवैत से आए 2 यात्रियों से 24 लाख 54 हजार रुपए कीमत का सोना बरामद किया गया है. लेडीज पर्स के गोल बक्कल, सोने की चेन और छोटी प्लेट के रूप में सोना तस्करी हो रही थी.

जयपुर: अनलॉक में धड़ल्ले से जारी है सोने की तस्करी, 24 लाख के गोल्ड संग 2 तस्कर गिरफ्तार
24 लाख रुपए के सोने के साथ 2 तस्कर गिरफ्तार हुए हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

जयपुर: कोरोना (Corona) संक्रमण ने कारोबार को लॉक कर दिया है. लेकिन तस्करों के हौंसले अभी भी बुलंद हैं. राजस्थान की राजधानी जयपुर सहित देशभर के एयरपोर्ट (Airport) पर सोने (Gold) की अंतराष्ट्रीय तस्करी अनलॉक (Unlock) हो चुकी है. जयपुर एयरपोर्ट पर ही अनलॉक फेज में 4 मामले पकड़ में आ चुके हैं.

जयपुर एयरपोर्ट पर खाड़ी देशों से आ रही हवाई जहाज के जरिए सोना तस्करी (Gold Smuggling) की घटनाएं अधिक हैं. ताजा मामला कुवैत से आए 2 तस्करों और 472 ग्राम सोने की बरामदगी का है. तस्कर हर बार नए तरीके अपनाकर तस्करी की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं. टिकट के साथ कुछ राशि लालच देकर इनसे अंतराष्ट्रीय स्मगलर सोना तस्करी करवा रहे हैं. कस्टम विभाग की एयर इंटेलीजेंस विंग इस पर निगाहें रखे हुए है.

दरअसल, अनलॉक फेज में कुछ देशों से हवाई सेवाओं की शुरुआत हुई है. खासकर खाड़ी देशों से नियमित फ्लाइट शुरू हैं. इन विमानों पर गोल्ड तस्करों की नजर है. सोना तस्करी की बड़ी घटनाएं भी अनलॉक फेज में सामने आई हैं. जुलाई महीने से अब तक चार बड़े मामले विभाग पकड़ चुका है.

कस्टम विभाग की एयर इंटेलीजेंस विंग भी सोना तस्करी पर कड़ी नजर रख रही है.  पकड़े गए मामलों में कस्टम विभाग खाड़ी देशों और जयपुर कनेक्शन की जांच कर रहा है. खाड़ी देशों से लौट रहे कामगारों को लालच में फंसाकर तस्कर सोना तस्करी की गतिविधियों का जरिया बना रहा. यात्रियों के मलद्वार, बैग्स में लोहे की रिंग, प्रेस, टार्च, फुटवियर सहित कई अन्य जगहों पर छिपाकर सोना तस्करी के मामले सामने आ रहे हैं.

इन मामलों में जांच जारी
23 सितंबर 2020 को कुवैत से आए 2 यात्रियों से 24 लाख 54 हजार रुपए कीमत का सोना बरामद किया गया है. लेडीज पर्स के गोल बक्कल, सोने की चेन और छोटी प्लेट के रूप में सोना तस्करी हो रही थी. वहीं, 13 सितंबर को दुबई से आए आरोपी से 465 ग्राम जिसकी कीमत 24.50 लाख रुपए थी उसे पकड़ा गया था. फॉइल के रूप में सोने की की जा रही थी तस्करी. साथ ही 20 जुलाई को रियाद से आए यात्री से 11 लाख रुपए का सोना पकड़ा गया. तालों में छुपा कर की जा रही थी सोने की तस्करी. इधर, 2 जुलाई को दुबई से तीन फ्लाइट्स में 14 तस्कर पकड़ में आए थे. इनके पास से 16 करोड़ कीमत का 32 किलो सोना बरामद हुआ था. यह बैट्रियों में भरकर सोने की तस्करी कर रहे थे.

विदेश से यहां सोना सप्लाई करने वाले तस्कर केंद्रीय और राज्य की जांच एजेंसियों से दूर हैं. कस्टम विभाग एयरपोर्ट पर तो सोना तस्करी के मामले पकड़ रहा है, लेकिन विदेश में बैठे तस्करों पर पहुंच नहीं है. इसके साथ ही घरेलू सप्लाई लेने वाले ज्वैलर्स पर भी पकड़ ढ़ीली ही है. अब कस्टम विभाग राजस्व आसूचना निदेशालय, केंद्रीय इंटेलीजेंस विंग की मदद लेकर इस नेक्सस का खुलासा करने की तैयारी में है. मकसद यहीं है कि तस्करी की जड़ खत्म की जाए. डायरेक्टरेट ऑफ रेवेन्यु इंटेलिजेंस, कस्टम विभाग और आयकर विभाग सहित केंद्रीय खुफिया सूचना एंजेसिंयों अब मामले में सक्रिय हैं.