जयपुर: पंचायत चुनाव के लिए 329 पोलिंग पार्टियों ने संभाला मोर्चा, 48 घंटे बंद रहेंगी शराब की दुकानें

जिला निर्वाचन ने संबंधित ग्राम पंचायतों में अवकाश घोषित किया है ताकि लोग आराम से सुविधा के मुताबिक मतदान कर सकें. परिवार सहित अपने पोलिंग बूथ पर पहुंचे और अपने पसंद के प्रत्याशी को वोट दें. 

जयपुर: पंचायत चुनाव के लिए 329 पोलिंग पार्टियों ने संभाला मोर्चा, 48 घंटे बंद रहेंगी शराब की दुकानें
पंचायत चुनाव को लेकर संबंधित क्षेत्रों में सूखा दिवस रहेगा.

जयपुर: गांव की सरकार का चुनाव कराने के लिए 329 पोलिंग पार्टियों ने मतदान केंद्रों पर मोर्चा संभाल लिया है. जयपुर जिले की जालसू, मौजमाबाद और आमेर पंचायत समिति की 80 ग्राम पंचायतों में "गांव की सरकार" के लिए शुक्रवार को मतदान होगा. 

वोटिंग के लिए गुरुवार को फाइनल रिहर्सल के बाद भवानी निकेतन परिसर से 329 मतदान दल रवाना हुए. रिटर्निंग अधिकारियों ने मतदान दलों को ईवीएम-मतपत्रों और मतदान सामग्री के साथ रवाना किया.

गांव की सरपंचाई की कुर्सी पर बैठने और साफ बांधने के लिए प्रत्याशियों और उनके समर्थक पिछले 8 दिन से चुनाव-प्रचार में जुटे हैं और अब शुक्रवार को बारी है. सुबह आठ बजे से शाम पांच बजे वोट डालकर गांव की सरकार चुन सकते हैं. जिला निर्वाचन ने संबंधित ग्राम पंचायतों में अवकाश घोषित किया है ताकि लोग आराम से सुविधा के मुताबिक मतदान कर सकें. परिवार सहित अपने पोलिंग बूथ पर पहुंचे और अपने पसंद के प्रत्याशी को वोट दें. 

और क्या बोले जिला निर्वाचन अधिकारी डॉक्टर जोगाराम
जयपुर जिले में कल यानी की 17 जनवरी को सुबह 8:00 बजे से शुरू होने वाले 80 ग्राम पंचायत के 329 मतदान केंद्रों पर 3 लाख 12 हजार 600 ग्रामीण मतदाता अपने मत का प्रयोग कर अपने सरपंच और वार्डपंच को चुनेंगे. जिला निर्वाचन अधिकारी डॉक्टर जोगाराम ने बताया 80 ग्राम पंचायतों में 597 सरपंच उम्मीदवार के लिए EVM के चुनाव होगा. इसके साथ ही 80 ग्राम पंचायतों के 860 वार्डों में वार्ड पंचों के लिए मतपत्र से मतदान करवाया जाएगा.

उन्होंने बताया कि आमेर पंचायत समिति की 25 ग्राम पंचायतों में 110 मतदान केंद्रों पर 1 लाख 4 हजार 610 मतदाता सरपंच और वार्ड पंच को चुनेंगे. इसी तरह जालसू की 34 ग्राम पंचायतों में 91 मतदान केंद्रों 87 हजार 28 मतदाता मतदान करेंगे. वहीं, मौजमाबाद की 21 ग्राम पंचायतों में 128 मतदान केंद्रों पर 1 लाख 20 हजार 962 मतदाता गांव की सरकार चुनेंगे.

पुलिस का जाब्ता रहेगा तैयार
जिला निर्वाचन अधिकारी जोगाराम ने बताया कि क्रिटिकल मतदान केंद्र पर 1-4 का पुलिस का जाब्ता लगाया गया है, वहीं, अन्य मतदान केंद्रों पर दो-दो पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है. इसके साथ ही क्रिटिकल मतदान केंद्रों की वीडियोग्राफी भी करवाई जा रही है. साथ ही 39 जोनल मजिस्ट्रेट और 6 एरिया मजिस्ट्रेट की भी नियुक्ति की गई है. 

उन्होंने बताया कि सुबह मतदान शुरू होने से एक घंटे पहले ईवीएम की मॉक पोल की जाएगी. उसके बाद सुबह 8 बजे से मतदान की प्रक्रिया शुरू होगी और शाम 5:00 बजे तक जो मतदाता मतदान केंद्र के परिसर तक पहुंच जाएगा, वह अपने मत का प्रयोग करेगा. उधर मतदान के समय EVM खराब होने को लेकर कहा कि हर ग्राम पंचायत पर अतिरिक्त ईवीएम रखी गई है. यदि कोई भी खराब होती है तो तुरंत उसको बदलकर मतदान शुरू कर दिया जाएगा.

48 घंटे बंद रहेंगी शराब की दुकानें
पंचायत चुनाव को लेकर संबंधित क्षेत्रों में सूखा दिवस रहेगा. चुनाव क्षेत्र के पांच किलोमीटर दायरे में गुरुवार शाम 5 से 17 जनवरी को मतगणना होने तक शराब की दुकानें बंद रहेंगी. इसी प्रकार, दूसरे चरण में 20 जनवरी की शाम 5 से 22 जनवरी तथा तीसरे चरण के लिए 27 जनवरी शाम 5 से 29 जनवरी को मतगणना समाप्ति तक सूखा दिवस रहेगा.

मतदान पहचान पर्ची पर अभ्यर्थी नाम नहीं होगा
मतदान केन्द्र से 200 मीटर की परिधि के बाहर अभ्यर्थी द्वारा निर्वाचन बूथ पर अधिकतम एक मेज और दो कुर्सी लगाई जा सकेगी. छाया के लिए छाता और तिरपाल लगाया जा सकता है, लेकिन साइड में कनात या टेंट लगाने की अनुमति नहीं होगी. मतदान पहचान पर्ची पर अभ्यर्थी नाम या चुनाव चिन्ह अंकित नहीं होगा.