राजस्थान में 12 घंटे में सामने आए 4 नए कोरोना पॉजिटिव, अब तक कुल हुए 36

इनमें से तीन केस भीलवाड़ा जिले के बताए गए हैं, जो कि मेडिकल स्टाफ से जुड़े हुए हैं.

राजस्थान में 12 घंटे में सामने आए 4 नए कोरोना पॉजिटिव, अब तक कुल हुए 36
प्रतीकात्मक तस्वीर.

जयपुर: राजस्थान (Rajasthan) में आज चार नए कोरोना वायरस (Coronavirus) के पॉजिटिव केस सामने आए हैं. इनमें से तीन केस भीलवाड़ा जिले के बताए गए हैं, जो कि मेडिकल स्टाफ से जुड़े हुए हैं. वहीं एक केस जोधपुर का है. 

इन चार नए मरीजों के सामने आने के बाद राजस्थान में कोरोना वायरस के कुल मरीजों की संख्या 36 हो गई है. इनमें से एक की मौत हो चुकी है, जो कि विदेशी नागरिक था. वो राजस्थान में कोरोना का सबसे पहला पॉजिटिव केस था.

बता दें कि पूरे राजस्थान में सबसे अधिक कोरोना पॉजिटिव केस भीलवाड़ा से आए हैं. ACS मेडिकल रोहित कुमार सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि राजस्थान में 36 केस कोरोना पॉजिटिव निकले जबकि 1 हजार 548 संदिग्धों की रिपोर्ट निगेटिव निकली. उन्होंने बताया कि जोधपुर से जो युवती कोरोना पॉजिटिव पाई गई है, उसने हाल ही में ट्रेन से सफर किया था. 

बता दें कि, राजस्थान में अब तक 1584 नमूने प्राप्त हुए हैं, जिनमें से 36 पॉजिटिव हैं, 1548 नेगेटिव हैं. कोरोना वायरस अब धीरे-धीरे देश के लगभग हर राज्य तक अपना पैर पसार चुका है. कोरोना वायरस से अब तक संक्रमित मामलों की संख्या 500 के करीब पहुंच चुकी है. वहीं इससे पूरे भारत में कुल 10 मौतें हो चुकी है, और 37 लोग इससे पूरी तरह ठीक हो चुके हैं. 

कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्तियों का सबसे ज्यादा मामला महाराष्ट्र से हैं, जहां 101 व्यक्तियों में पॉजिटिव मामलों की पुष्टि हुई है. वहीं दूसरे नंबर पर केरल है, जहां 95 केस सामने आ चुके हैं, जिसमें से 7 विदेशी भी शामिल हैं. 

वहीं, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कोरोना वायरस से निपटने के लिए अधिकारियों के साथ लगातार बैठक कर रहे हैं. मुख्यमंत्री के अपील पर राजस्थान सरकार के मंत्री और विधायक अपने-अपने स्तर पर सहायता कोष में आर्थिक मदद देने की घोषणा कर चुके हैं.

बता दें कि, पूर्व सीएम वसुंधरा राजे ने भी अपने 2 महीने का वेतन मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री सहायता कोष में दान करने का निर्णय किया है. वहीं. चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कोरोना वायरस  (Coronavirus) को लेकर राजस्थान में स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है. किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए पूरे प्रदेश में 1 लाख बेड क्वॉरेंटाइन के लिए चिन्हित किए, जिनमें आवास, अस्पताल, होटल और हॉस्टल भी हो सकते हैं. इन सबको मिलाकर विभाग की तैयारी 1 लाख लोगों को क्वॉरेंटाइन की सुविधा उपलब्ध कराना है.