20 साल बाद जयपुर निगम बेड़े में शामिल हुईं 5 स्काई लिफ्ट मशीनें, इतना है बजट

ये मशीनें शहर में विभिन्न क्षेत्रों में विद्युत व्यवस्था, सड़क और मुख्य मार्गों में हाई मास्क लाइटों को सुधारने में काम आएंगी.

20 साल बाद जयपुर निगम बेड़े में शामिल हुईं 5 स्काई लिफ्ट मशीनें, इतना है बजट
छंटाई का काम करने में भी इनको काम में लिया जाएगा.

जयपुर: 20 साल बाद नगर निगम के बेडे में खराब लाइटों के सुधार के लिए 16 मीटर ऊंचाई की 5 नई इलेक्ट्रिक होइस्ट मशीनें शामिल हो गई हैं. अब लाइटों के संबंधित शिकायतों का निस्तारण जल्द हो सकेगा.

यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने सरकारी आवास से हरी झंडी दिखाकर 5 होइस्ट (स्काई लिफ्ट) मशीनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. धारीवाल ने बताया कि संसाधन कम होने के कारण नगर निगम में लाइट संबंधी शिकायतों के निस्तारण में काफी समय लग जाता था, जिस तरह से शहर का विस्तार होता जा रहा है, उसी तरह से संसाधनों में भी बढ़ोतरी की जा रही है.

वर्तमान में इस प्रकार की दो इलेक्ट्रिक हाईस्ट मशीनें हैं जो 20 साल पुरानी हैं लेकिन अब नगर निगम जयपुर द्वारा 5 नई इलेक्ट्रिक होइस्ट मशीनें 1 करोड़ 10 लाख रुपये की खरीदी गई हैं. ये मशीनें शहर में विभिन्न क्षेत्रों में विद्युत व्यवस्था, सड़क और मुख्य मार्गों में हाई मास्क लाइटों को सुधारने में काम आएंगी.

साथ ही मुख्य मार्गों और सडक पर पेड़ों से बिजली के तारों और इमारतों को नुकसान नहीं हो, इसके लिए छंटाई का काम करने में भी इनको काम में लिया जाएगा. .इस अवसर पर नगर निगम आयुक्त वीपी सिंह सहित नगर निगम के अधिकारी मौजूद रहे.