राजस्थान में कोरोना के मिले 563 नए मरीज, एक्टिव मामलों की संख्या हुई 11979

राजस्थान में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण की 'रफ्तार' थमने का नाम नहीं ले रहा है.

राजस्थान में कोरोना के मिले 563 नए मरीज, एक्टिव मामलों की संख्या हुई 11979
प्रतीकात्मक तस्वीर

जयपुर: राजस्थान में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण की 'रफ्तार' थमने का नाम नहीं ले रहा है. राज्य में शुकवार सुबह साढ़े दस बजे तक 563 कोरोना वायरस के मामले दर्ज किए गए हैं. इसके बाद, राज्य में एक्टिव मामलों की संख्या बढ़कर 11 हजार 979 पहुंच गई.
 
राजस्थान स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक, राज्य में अब तक कोरोना के 42 हजार 646 कोविड संक्रमण के मामले सामने आ चुके हैं. इसमें से 29 हजार 977 कोविड मरीज स्वस्थ्य होकर अपने घर जा चुके हैं. जबकि कोविड पॉजिटिव 690 लोगों की मौत हो चुकी है.

ये भी पढ़ें: छात्राओं को जल्द मिलेगी इंदिरा प्रियदर्शिनी पुरस्कार की राशि, शिक्षा मंत्री बोले...

जानकारी के अनुसार, शनिवार को अलवर से 105, बाड़मेर से 59, बीकानेर से 48, बांसवाड़ा से 19, नागौर से 16, दौसा से 8, बारां से 1, भीलवाड़ा से 25, गंगानगर से 15, झालावाड़ से 16, चित्तौड़गढ़ से 14, सवाईमाधोपुर से 4, टोंक से 3, कोटा से 63, अजमेर से 32, जयपुर से 97, झुंझुनूं से 7, हनुमानगढ़ से 1 और जालौर से 30 कोरोना के मामले दर्ज किए गए हैं.

वहीं, राजस्थान में कोरोना के बढ़ते मामलों से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) चिंतित हैं और वह वीसी के माध्यम से लगातार बैठक कर रहे हैं. इस दौरान गहलोत ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि, कोरोना संक्रमण से जूझ रहे प्रदेश में मृत्यदर शून्य पर लाने पर फोकस किया जाए और संक्रमित व्यक्ति को तुरंत इलाज उपलब्ध कराया जाए.

मुख्यमंत्री ने प्रदेश के विभिन्न मेडिकल कॉलेजों के प्रिसिंपल, पीएमओ व सीएमएच के साथ वीसी के माध्यम से मीटिंग की और प्रदेश में कोरोना के हालातों की जानकारी ली. सीएम ने कोरोना के उपचार में प्लाज्मा थैरेपी (Plasma Therapy) को बढ़ावा देने और उसके लिए प्रदेशभर में प्लाज्मा डोनेशन शिविर आयोजित करने के निर्देश दिए हैं.

उन्होंने कहा कि, कोरोना से ठीक हो चुके व्यक्तियों को हेल्थ प्रोटोकॉल के अनुसार, प्लाज्मा डोनेट करने के लिए रक्तदान की तर्ज पर, अभियान चलाकर प्रोत्साहित किया जाए. बैठक में शाामिल विशेषज्ञ डॉक्टरों ने बताया कि, प्रदेश में कोरोना की मृत्युदर 1.72 है.  जो कि राष्ट्रीय औसत के मुकाबले काफी कम है. पूर्व में चलाए गए जागरूकता अभियान के परिणाम स्वरूप, बीते दिनों में मृत प्रायः स्थिति में अस्पताल पहुंचने वाले मरीजों की संख्या अब कम हो गई है.

वहीं, चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा ने कहा कि, हमारा लक्ष्य मृत्युदर को शून्य पर लाना है. सीएम चाहते हैं कि, एक भी व्यक्ति की मौत कोविड से न हो. प्रदेश में 12 हजार पल्स ऑक्सी मीटर खरीदे गए हैं. रघु शर्मा ने कहा कि, जिला प्रशासन को क्षेत्र विशेष में लॉकडाउन (Lockdown) करने के लिए अधिकृत किया गया है.

प्लाज्मा थैरेपी को लेकर मंत्री रघु शर्मा ने कहा कि, उदयपुर में सोमवार से प्लाज्मा थैरेपी शुरू हो गई है. वहीं, बीकानेर में भी इसी सप्ताह से और अजमेर में 15 अगस्त से पहले प्लाज्मा थैरेपी की शुरुआत होगी.

ये भी पढ़ें: जयपुर से जैसलमेर शिफ्ट हुए कांग्रेस MLA, बोले- 14 अगस्त को बेनकाब होगी BJP की साजिश