Operation Clean Sweep के तहत Jaipur Police को बड़ी सफलता, 635 तस्कर गिरफ्तार

कमिश्नरेट की और से राजधानी जयपुर शहर (Jaipur News) में मादक पदार्थ की बढ़ती तस्करी (Drug Smuggling) पर शिकंजा कसने के लिए ऑपरेशन क्लीन स्वीप अभियान (Operation Clean Sweep) की 23 नवंबर 2019 को शुरुआत की गई थी.

Operation Clean Sweep के तहत Jaipur Police को बड़ी सफलता, 635 तस्कर गिरफ्तार
पकड़े गए बदमाशों में 550 पुरुष और 85 महिलाएं शामिल हैं जो कि मादक पदार्थ की तस्करी में लिप्त हैं.

जयपुर: कमिश्नरेट की और से राजधानी जयपुर शहर (Jaipur News) में मादक पदार्थ की बढ़ती तस्करी (Drug Smuggling) पर शिकंजा कसने के लिए ऑपरेशन क्लीन स्वीप अभियान (Operation Clean Sweep) की 23 नवंबर 2019 को शुरुआत की गई थी. इस अभियान के तहत कमिश्नरेट की क्राइम ब्रांच टीम ने अब तक 500 से ज्यादा एनडीपीएस एक्ट में मुकदमा दर्ज कर लिए हैं. 

जयपुर कमिश्नरेट में ऐसा पहली बार हुआ है जब कमिश्नरेट की ओर से एनडीपीएस एक्ट (NDPS Act) में इतनी भारी मात्रा में मुकदमे दर्ज किए गए हो. इस कार्रवाई के दौरान क्राइम ब्रांच टीम ने अब तक 635 से ज्यादा मादक पदार्थ तस्करों को हवालात पहुंचाया है. अपनी इस कार्रवाई के दौरान पकड़े गए बदमाशों में 550 पुरुष और 85 महिलाएं शामिल हैं जो कि मादक पदार्थ की तस्करी में लिप्त हैं.

पुलिस ने इस ऑपरेशन के दौरान गांजा, अफीम, चरस, स्मैक, डोडा पोस्ट, कोकिन, एमडीएम, ब्राउन शुगर, एलएसडी ड्रग्स, कोडेक्स, फास्फेट सिरप, समेत अन्य मादक पदार्थ जप्त किए हैं. इतना ही नहीं अपने इस अभियान के तहत क्राइम ब्रांच टीम ने 2 विदेशी नागरिकों को भी मादक पदार्थों के साथ दबोचा है.

एडिशनल पुलिस कमिश्नर अजय पाल लांबा के मुताबिक क्राइम ब्रांच टीम ने ऑपरेशन क्लीन स्वीप अभियान के तहत करीब 36 क्विंटल गांजा 3 क्विंटल डोडा पोस्ट 17 किलो अफीम 3 किलो चरस करीब 2 किलो स्मैक 17 ग्राम ब्राउन शुगर 27 ग्राम कोकीन एमडीएमए 40 मिलीग्राम एलएसडी 10 किलो भांग ऑल मेडिसिन के करीब 2612 और कोडीन फास्फेट के करीब 189 सिरप यानी 25 किलो मादक पदार्थ जप्त किया है.

हालांकि अपनी इस कार्रवाई के बाद कई मादक पदार्थ जेल से बाहर भी आ चुके हैं. ऐसे में पुलिस जेल से बाहर आने के बाद उन मादक पदार्थ तस्करों पर अब नजर गड़ाए हुए हैं. अजय पाल लांबा के मुताबिक यह तस्कर पश्चिम बंगाल उड़ीसा आंध्र प्रदेश बिहार छत्तीसगढ़ झारखंड और पूर्वोत्तर राज्यों और नेपाल से मादक पदार्थ लाकर जयपुर समेत राजस्थान के कई जिलों में सप्लाई करते हैं. राजस्थान में इन मादक पदार्थ तस्करों का गढ़ चित्तौड़गढ़ झालावाड़ प्रतापगढ़ मंदसौर नीमच मालदा है. इतना ही नहीं यह तस्कर राजस्थान में मॉडर्न ड्रग्स यानी चरस कोकीन ब्राउन शुगर हिमाचल प्रदेश मुंबई और दिल्ली से लेकर आ रहे हैं और यहां पर कॉलेज और वीआईपी एरियाज में इनकी सप्लाई करते हैं.

बहरहाल कमिश्नरेट की टीम अब इन तस्करों के बाहरी राज्यों में बने हुए नेटवर्क का पता लगाकर मादक पदार्थ तस्करों को पूरी तरीके से खत्म करने की तैयारी में जुट गई है.

ये भी पढ़ें: Rajasthan में लागू रहेगा Lockdown, School खुलने को लेकर जारी हुआ यह आदेश...