राजस्थान: 86 हजार परिवारों के घर के सपने होंगे पूरे, PM आवास योजना में मिली प्राथमिकता

बांसवाड़ा, बाड़मेर और डूंगरपुर ये तीनों जिले ऐसे हैं, जहां आदिवासी इलाके हैं. इन इलाकों में अधिकतर मकान कच्चे हैं.

राजस्थान: 86 हजार परिवारों के घर के सपने होंगे पूरे, PM आवास योजना में मिली प्राथमिकता
सरकार की इस योजना से लाखों परिवारों को अपने सपनों का आशियान मिल पाएगा.

जयपुर: राजस्थान (Rajasthan) में एक बार फिर से गरीबों के आशियाने को नई छत मिलने वाली है. केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण (Pradhan Mantri Gramin Awaas Yojana) के अंतर्गत राजस्थान के 86 हजार से ज्यादा परिवारों को बड़ी राहत दी है. 

सबसे बड़ी बात ये है कि खुले में शौच से मुक्त हुई पंचायतों को प्राथमिकता दी जाएगी. केंद्र सरकार ने अतिरिक्त आवासों की मंजूरी दे दी है. अगले साल तक प्रदेश के लाखों अल्पसंख्यक, एससी, एसटी और बीपीएल परिवारों को उनके सपनों का आशियाना मिल सकेगा. 

केंद्र सरकार की मंजूरी के बाद ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज विभाग (Rural Development and Panchayati Raj Department) ने सभी जिला कलेक्टर्स को पत्र लिखा है. पत्र में कलेक्टर्स को निर्देश दिए हैं कि जल्द से जल्द पात्र परिवारों की स्वीकृति जारी की जाए ताकि गरीब परिवारों को उनके सपनों का आशियाना मिल सके. 2021 तक राजस्थान में पीएम आवास योजना के अंतर्गत 3,64,000 सपनों के आशियाने बनेंगे.

ओडीएफ पंचायतों को प्राथमिकता
पीएम आवास योजना में अबकी बार उन पंचायतों को बड़ी राहत दी है, जो पंचायतें खुले में शौच से मुक्त हो चुकी. इसके लिए अतिरिक्त लक्ष्यों की तैयारियों के लिए सभी जिला कलेक्टर्स को एक सप्ताह का वक्त दिया गया है ताकि जिला कलेक्टर्स पात्र परिवारों को सूची तैयार कर पंचायतीराज विभाग को समय से भेज सकें.

सबसे ज्यादा एसटी परिवारों को राहत
राजस्थान में 86,816 पात्र परिवारों को अतिरिक्त आवास आवंटित किए गए हैं, जिसमें से सबसे ज्यादा आवास एसटी वर्ग को 31,827 आवंटित हुए हैं. 29,968 अन्य को, 20681 एससी और अल्पसंख्यकों को 4340 को आवंटित किए जाएंगे.

बांसवाड़ा, बाड़मेर, डूंगरपुर को मिलेंगे ज्यादा आवास
बांसवाड़ा, बाड़मेर और डूंगरपुर ये तीनों जिले ऐसे हैं, जहां आदिवासी इलाके हैं. इन इलाकों में अधिकतर मकान कच्चे हैं. इसलिए सबसे ज्यादा इन तीनों जिलों के लिए पक्के आवास आवंटित होंगे. बाड़मेर को सबसे ज्यादा 9728, बांसवाड़ा को 9644, डूंगरपुर को 6218 परिवारों को आवास आवंटित होंगे. इसके अलावा उदयपुर को 6972, जोधपुर को 4675, प्रतापगढ़ को 3353 आवास आवंटित किए गए.

जाहिर है कि सरकार की इस योजना से लाखों परिवारों को अपने सपनों का आशियान मिल पाएगा क्योंकि इनमें से कई परिवार ऐसे भी थे, जो चाहकर भी आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण पक्का मकान नहीं बना सकते थे.