कोटा: दामाद ने दहेज में लड़की के परिवार से मांगा 'गो दान', लोगों ने जमकर की तारीफ

कोटा के विवेक गौतम की जब शादी तय हो रही थी तो ससुराल पक्ष से विवेक ने दहेज में गाय की मांग की. ये सुनते ही लड़की पक्ष के लोग भी आश्चर्य में पड़ गए लेकिन जब उन्हें सब कुछ बताया तो उन्हें भी ख़ुशी हुई.

कोटा: दामाद ने दहेज में लड़की के परिवार से मांगा 'गो दान', लोगों ने जमकर की तारीफ
विवेक बचपन से ही गो प्रेम रखते हैं.

हिमांशू मित्तल, कोटा: हिंदुस्तान में गाय (Cow) को भले ही राजनीति (Politics) का माध्यम बना दिया गया हो लेकिन अभी भी कुछ लोग ऐसे हैं, जिनका गाय प्रेम निश्छल है. ऐसे ही एक गाय प्रेमी ने गाय के प्रति अपने प्रेम को अनोखे अंदाज़ में पेश किया. इसके साथ ही समाज (Society) को गाय के माध्यम से ही दहेज (Dowry) जैसी कुरीति से दूर रहने की सीख भी दी.

ये ख़ास संदेश है, जो कोटा से मिला है कि दहेज में धन दौलत नहीं, गाड़ी और जैवेलरी भी नहीं, दहेज में बस गो माता चाहिए. कोटा के विवेक गौतम की जब शादी तय हो रही थी तो ससुराल पक्ष से विवेक ने दहेज में गाय की मांग की. ये सुनते ही लड़की पक्ष के लोग भी आश्चर्य में पड़ गए लेकिन जब उन्हें सब कुछ बताया तो उन्हें भी ख़ुशी हुई.

cow in dowry

फ्री में करते हैं गायों का इलाज
दरअसल, विवेक बचपन से ही गौ प्रेम रखते हैं. फिर बड़े होने पर ये प्रेम कुछ ऐसे बढ़ा कि इन्होंने निस्वार्थ तरीके से शहर की बीमारी और सड़क हादसे में घायल गौ वंश के उपचार की जिम्मेदारी उठा ली. जब अब विवेक की शादी तय हुई तो भी उन्होंने दहेज में गो माता को मांग लिया ताकी उसकी सेवा कर सकें. विवेक का ये न केवल गो प्रेम है बल्कि दहेज जैसी कुप्रथा के खिलाफ उनका संदेश भी है. तो उनकी ससुर ने भी कहा कि वास्तव में दहेज कुप्रथा ही है और इस पहल से समाज में बदलाव आने की उम्मीद है.