जैसलमेर के सीमावर्ती इलाके में पाक के लिए जासूसी के आरोप में एक व्यक्ति गिरफ्तार

गौरतलब है कि भारत-पाकिस्तान के बीच तनावपूर्ण माहौल के चलते जैसलमेर में अब तक एक दर्जन संदिग्धों को पकड़ा जा चुका है. 

जैसलमेर के सीमावर्ती इलाके में पाक के लिए जासूसी के आरोप में एक व्यक्ति गिरफ्तार
प्रतीकात्मक तस्वीर

जयपुर: राजस्थान के जैसलमेर जिले के सीमावर्ती क्षेत्र से पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी को सामरिक महत्व की सूचना भेजने में संलिप्त एक जासूस को जयपुर सीआईडी की विशेष शाखा ने मंगलवार को गिरफ्तार किया.

अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस :इंटेलिजेंस: उमेश मिश्रा ने बताया कि रविवार को जासूसी गतिविधियों में संलिप्तता के संदेह में हिरासत में लिए गए नवाब खां (36) को सीआईडी विशेष शाखा जयपुर के स्पेशल पुलिस थाना में मामला दर्ज कर गिरफ्तार किया है. उन्होंने बताया कि गिरफ्तार युवक पिछले वर्ष जासूसी गतिविधियों में सक्रिय था. 

गौरतलब है कि भारत-पाकिस्तान के बीच तनावपूर्ण माहौल के चलते जैसलमेर में अब तक एक दर्जन संदिग्धों को पकड़ा जा चुका है. बता दें कि 26 फरवरी को पाकिस्तान पर सेना द्वारा की गई कार्रवाई के बाद से ही राजस्थान और जम्मू कश्मीर की अंतरराष्ट्रीय सीमाओं पर चौकसी को बढ़ा दिया गया है. इसी दौरान राजस्थान के जैसलमेर के सरहदी इलाके मोहनगढ़ में 3 संदिग्ध युवकों के मिलने का मामला सामने आया था. जानकारी के अनुसार मोहनगढ़ के पीटीएम चौराहे पर ये तीन युवक सेना के वाहनों के मूवमेंट की फोटोग्राफी कर रहे थे. ऐसे में सेना के जवानों द्वारा जब इन्हे रोका गया तो ये तीनों युवक वहां से भाग छूटे. 

तीनों संदिग्धों से की गई पूछताछ में सामने आया है कि इनके नाम राजपाल, सरजीत सिंह और मिठुराम है. जिसमें राजपाल और सरजीत सिंह पिता पुत्र हैं और मोहनगढ़ कस्बे में मजदूरी का काम करते हैं. वहीं तीसरा संदिग्ध मिठुराम पाकिस्तानी शरणार्थी है और पिछले लम्बे समय से मोहनगढ़ में निवास कर रहा है.