पत्रकार अभिषेक सोनी हत्याकांड में आरोपी गिरफ्तार, एक महीने से था फरार

राजधानी जयपुर के मानसरोवर इलाके में गोपालपुरा बाईपास पर 9 दिसंबर 2020 को पत्रकार अभिषेक सोनी हत्याकांड (Abhishek Soni murder case) में फरार आरोपी की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने उसे कोर्ट में पेश कर पूछताछ शुर कर दी. 

पत्रकार अभिषेक सोनी हत्याकांड में आरोपी गिरफ्तार, एक महीने से था फरार
वह महाराष्ट्र और गुजरात भी रहा.

जयपुर: राजधानी जयपुर के मानसरोवर इलाके में गोपालपुरा बाईपास पर 9 दिसंबर 2020 को पत्रकार अभिषेक सोनी हत्याकांड (Abhishek Soni murder case) में फरार आरोपी की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने उसे कोर्ट में पेश कर पूछताछ शुर कर दी. वारदात के बाद गिरफ्तारी के डर से आरोपी (Jaipur Crime) जयपुर छोड़कर भाग निकला था. इसके बाद एक ट्रक पर खलासी बनकर काम कर रहा था. इस दौरान वह महाराष्ट्र और गुजरात भी रहा. 

करीब एक महीने बाद वह छिपते हुए जयपुर जिले (Jaipur News) के फागी इलाके में अपने गांव पहुंचा. जहां मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर मानसरोवर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने आज आरोपी को कोर्ट में पेश कर पूछताछ शुरु की तो सामने आया कि आरोपी कानाराम चौधरी फागी का रहने वाला है. प्रारंभिक पूछताछ में सामने आया कि वारदात में शामिल नामजद आरोपी शंकर चौधरी को 17 दिसंबर को गिरफ्तार किया था. इससे कानाराम घबरा गया. वह गांव से भागकर अजमेर रोड पहुंचा.

वहां हाइवे से गुजर रहे एक ट्रक चालक के संपर्क में आया. तब कानाराम ने ट्रक ड्राइवर से कहा कि वह गरीब परिवार से है. मां-बाप ने उसे घर से बाहर निकाल दिया है. इसलिए काम की तलाश में घूम रहा हूं. ट्रक चालक ने सहानुभूति दिखाते हुए कानाराम को ट्रक में खलासी रख लिया। तब से कानाराम ट्रक में खलासी का काम कर रहा था. वह राजस्थान से बाहर ही रहा. 

घटना को करीब 1 महीने से ज्यादा वक्त गुजरने पर कानाराम को लगा कि अब वह परिवार से मिलने जा सकता है. इसलिए वह जयपुर में परिवार से मिलने के लिए चोरी छिपे अपने घर पहुंचा. पुलिस ने मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर कानाराम के घर में दबिश दी और उसे गिरफ्तार कर लिया.

ये भी पढ़ें: श्रवण नक्षत्र में हैं ये 3 बड़े ग्रह, बेहद कष्टकारी होगा आने वाला समय, जान लें उपाय!