रिश्वतकांड में शामिल Baran कलेक्टर Indra singh Rao को ACB ने किया गिरफ्तार !

जिला कलेक्टर के पी. ए. महावीर प्रसाद नागर को 1,40,000 हजार रूपये की राशि रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया था. 

रिश्वतकांड में शामिल Baran कलेक्टर Indra singh Rao को ACB ने किया गिरफ्तार !
बारां कलेक्टर इन्द्रसिंह राव.

जयपुर: भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (Anti Corruption Bureau) ने बुधवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए तत्कालीन बारां कलेक्टर इन्द्रसिंह राव (Indra singh Rao) को घूस प्रकरण में गिरफ्तार किया है.

यह भी पढ़ें- Baran कलेक्टर Indra Singh Rao कई रिश्वतकांड में शामिल, जानिए भ्रष्टाचार की कहानी !

ब्यूरो के महानिदेशक भगवान लाल सोनी (Bhagwanlal Soni) ने बताया कि 9 दिसंबर को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की कोटा टीम (Kota Team) द्वारा ट्रेप आयोजित कर परिवादी गोविन्द सिंह (Govind Singh) की उनके पेट्रोल पम्प (Petrol Pump) की लीज आवंटन के नवीनीकरण हेतु भूमि संपरिवर्तन एवं एनओसी जारी करने के नाम पर जिला कलेक्टर के पी. ए. महावीर प्रसाद नागर को 1,40,000 हजार रूपये की राशि रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया था. 

यह भी पढ़ें- Baran कलेक्टर का पीए 1 लाख 40 हजार रुपए रिश्वत लेते गिरफ्तार, कलेक्टर इंद्र सिंह राव APO

प्रकरण में तत्कालीन बारां कलेक्टर इन्द्रसिंह राव (Indra singh Rao) की भूमिका संदिग्ध होने पर राज्य सरकार (State Government) द्वारा उन्हें तत्काल प्रभाव से एपीओ कर दिया गया था एवं ब्यूरो में इस संबंध में प्रकरण दर्ज कर अतिरिक्त महानिदेशक एम. एन. दिनेश के सुपरविजन में अनुसंधान अधिकारी चन्द्रप्रकाश शर्मा के नेतृत्व में विशेष टीम का गठन कर अनुसंधान किया जा रहा था.

प्रकरण के अनुसंधान से तत्कालीन जिला कलेक्टर इन्द्रसिंह राव के विरूद्ध उनकी भूमिका के संबंध में पर्याप्त साक्ष्य मिलने पर बुधवार को इन्द्रसिंह राव को प्रकरण के अनुसंधान अधिकारी चन्द्रप्रकाश शर्मा (Chandraprakash Sharma), अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एवं सचिन शर्मा (Sachin Sharma), उप अधीक्षक पुलिस तथा  महेश तिवाड़ी (Mahesh Tiwari), पुलिस निरीक्षक की विशेष टीम ने कार्यवाही करते हुए गिरफ्तार किया है. आरोपी अधिकारी के आवास पर तलाशी की कार्रवाई जारी है. आरोपी को गुरुवार को न्यायालय भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम मामलात कोटा में पेश किया जाएगा.