राजस्थान के ड्राइविंग स्कूलों पर है परिवहन विभाग की नजर, जल्द करेगा कार्रवाई

आरटीओ जयपुर राजेंद्र कुमार वर्मा ने कहा कि इस प्रकार से अवैध लर्निंग लाइसेंस बनाकर लोगों के जीवन के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है. 

राजस्थान के ड्राइविंग स्कूलों पर है परिवहन विभाग की नजर, जल्द करेगा कार्रवाई
जयपुर के सभी ड्राइविंग स्कूलों की विभाग जांच में जुटा है.

दामोदर प्रसाद, जयपुर: प्रादेशिक परिवहन विभाग (Regional transport department) जयपुर अवैध लर्निंग लाइसेंस (Invalid Learning License) बनाने वाले ड्राइविंग स्कूलों पर शिकंजा कसने जा रहा है. आरटीओ जयपुर (RTO Jaipur) को लगातार अवैध लर्निंग लाइसेंस बनाने की शिकायत मिल रही थी. 

इस शिकायत पर आरटीओ जयपुर ने कार्रवाई करते हुए एक ड्राइविंग स्कूल से 28 अवैध लर्निंग लाइसेंस बनाना पकड़ा गया है. इसको लेकर जयपुर के सभी ड्राइविंग स्कूलों की विभाग जांच में जुटा है.

जय हनुमान मोटर ड्राइविंग स्कूल द्वारा अवैध लर्निंग लाइसेंस जारी करने की शिकायत आरटीओ कार्यालय को मिली थी, जिस पर कार्रवाई करते हुए आरटीओ जयपुर ने लर्निंग लाइसेंसों की जांच करवाई गई. जांच में मोटर ड्राइविंग स्कूल द्वारा प्रार्थी की उपस्थिति के बिना ही फोटो से फोटो कैप्चर कर लाइसेंस जारी किए गए, जिसमें से करीब 28 लाइसेंस ऐसे हैं, जिनका फोटो कैप्चर कर लर्निंग लाइसेंस बनाए गए है.

ये लर्निंग लाइसेंस अप्रैल से नवंबर के बीच में अवैध रूप से बनाए गए, जिन लोगों के फोटो कैप्चर से लर्निंग लाइसेंस बनाए गए उन लोगों को आरटीओ कार्यालय बुलाकर पूछताछ भी की जा रही है. आप लोगों के लर्निंग लाइसेंस किस प्रकार से बनाए गए हैं, आरटीओ जयपुर ने फोटो कैप्चर कर लर्निंग लाइसेंस बनाना गंभीर अपराध की श्रेणी में आना माना है.

लोगों के जीवन के साथ खिलवाड़ किया जा रहा
आरटीओ जयपुर राजेंद्र कुमार वर्मा ने इस प्रकार से अवैध लर्निंग लाइसेंस बनाना लोगों के जीवन के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है. जय हनुमान ड्राइविंग स्कूल द्वारा अवैध लर्निंग लाइसेंस बनाना गंभीर अपराध की श्रेणी में आता है क्योंकि आजकल आए दिन सड़कों पर दुर्घटनाएं हो रही है. रोड सेफ्टी की नजर से भी गलत है क्योंकि सरकार लोगों की जान बचाने और सुरक्षित वाहन चलाने सुरक्षित घर पहुंचने के लिए लगातार जागरूक अभियान चला रही है लेकिन इन ड्राइविंग स्कूल ने सभी नियमों को ताक पर रखकर अनियमितताए बरती हैं. इनके खिलाफ आरटीओ विभाग नियमानुसार कार्रवाई करेगा. इसकी जानकारी उच्चाधिकारियों के भी ध्यान में लाया जाएगा.

केंद्रीय मोटरयान नियम 1989 के नियम 24,27 एवं 31 राजस्थान मोटरयान नियम 1990 के नियम 21 एवं मोटर ड्राइविंग स्कूल नियंत्रण और विनियमन स्कीम एमडीएसबी का दुरुपयोग कर लर्निंग लाइसेंस जारी किए हैं. इस पर आरटीओ जयपुर ने ड्राइविंग स्कूल को स्पष्टीकरण देकर 3 दिवस में जबाव मांगा. यदि समयानुसार जबाव आने पर विभाग कार्रवाई करेगा.