प्रशासन हुआ सख्त, बेवजह घूम रहे लोगों को पुलिस ने सिखाया सबक

वैश्विक महामारी बने कोरोना वायरस (Coronavirus) का पूरे विश्व में डर का माहौल बना हुआ है.

प्रशासन हुआ सख्त, बेवजह घूम रहे लोगों को पुलिस ने सिखाया सबक
प्रतिकात्मक तस्वीर

अमित यादव, जयपुर: वैश्विक महामारी बने कोरोना वायरस (Coronavirus) का पूरे विश्व में डर का माहौल बना हुआ है. कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए प्रधान मंत्री ने पूरे भारत में 14 अप्रैल तक लॉक डाउन किया गया है. लॉक डाउन के साथ ही प्रदेश में धारा 144 भी लगाई गई है. लॉक डाउन के बावजूद भी लोग अपने घरों से बाहर निकल रहे हैं, लेकिन अब प्रशासन ने सख्ती बरतना शुरू दी दिया है.

लॉक डाउन के चलते पूरे जयपुर ग्रामीण की सड़कों पर दिख रही भीड़ भाड़ को लेकर पुलिस ने सख्ती दिखाना शुरू कर दिया है, जिसके बाद पुलिस सड़कों पर लॉक डाउन का उल्लंघन करने और धारा 144 की पालना नहीं करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करती नजर आई. 

पुलिस ने कोटपूतली, शाहपुरा, विराटनगर, दूदू, फागी, सांभरलेक, फुलेरा, बगरू, में जगह-जगह बेरिकेड्स लगाए और नाकाबंदी कर लोगों से समझाइश की. हालांकि, पुलिस की सख्ती के बाद सड़कें और बाजार सुनसान नजर आएअनावश्यक रूप से बाजारों में घूम रहे लोगों के खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई करते हुए कई वाहनों को जब्त किया है, तो कई वाहनों के चालान काटे, बेवजह घूम रहे लोगों को पुलिस ने "मैं समाज का दुश्मन हु" का पर्चा थमाया.

ये भी पढ़ें: राजस्थान में 12 घंटे में सामने आए 4 नए कोरोना पॉजिटिव, अब तक कुल हुए 36

कोटपूतली पुलिस प्रसाशन ने व्यापारियों और फैक्ट्री प्रबन्धक व मंदिर पुजारियों की बैठक पंचायत समिति में बुलवाई और केवल जरूरी सामान की दुकान सुबह 7 से 10 बजे खोलने के दिशा निर्देश दिये, लेकिन देर रात्री एएसपी कार्यालय में दुबारा हुई बैठक में पुनः निर्णय लिया गया. जरूरी सामान की दुकान पूरे दिन खुली रहूंगी ताकी बाजरा में एक साथ भीड़ ना हो सके. वहीं, फैक्ट्री प्रबन्धकों को तुरन्त फैक्ट्री बन्द करने के लिए कहा गया. मन्दिरों में केवल शाम के समय आरती पूजा की जा सकेगी. भीड़ जुटने के लिये मना किया गया.

लॉक डाउन के बावजूद सड़कों पर घूमने-फिरने और सरकार के आदेशो ठेंगा दिखाने वाले 18 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया. पुलिस ने बताया कि लगातार दो दिन से बेवजह सड़कों पर घूमने वाले लोगों से समझाइश कर घर में रहने की अपील की जा रही थी. बावजूद इसके लोग बाज नहीं आ रहे थे. इस पर पुलिस ने सख्ती दिखाते हुए दो मोटरसाइकिल सहित 18 लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस की सख्ती के बाद कस्बा सुनसान नजर आया और जगह-जगह पुलिस के जवान गश्त करते नजर आए.

कोटपूतली सीकर अलवर मार्ग व हरियाणा बोर्डर गोनेडा से केवल इमरजेंसी कार्यों और इमरजेंसी सेवाओं से जुड़े लोगों को जाने इजाजत दी जा रही है. लॉक डाउन की पालना के लिए पुलिस ने 200 से ज्यादा स्थानों को चिन्हित किया है. जयपुर पुलिस की ओर से 202 जगह नाकेबंदी लगाकर लोगों से समझाइश की जा रही है. लेकिन लोग फिर भी समझने को तैयार नहीं है. हमने बॉर्डर पर जाकर देखा लोग तरह तरह का बहना बना रहे हैं. वहीं जरूरी सेवाओं से जुड़े लोगों ने भी अपील की है सभी घरों में रहें.

ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों ने जी मीडिया के माध्यम से लोगों से अपील करते हुए कहा कि कोई भी अनावश्यक रूप से घर से बाहर नहीं निकले. बहुत जरूरी कार्य होने मेडिकल या खाद्य सामग्री संबंधित सामान लेने के लिए बाहर निकले और तुरंत अपने घर लौट जाए. पूरे भारत में अब 14 अप्रेल तक लॉक डाउन रहेगा.