अजमेर: लॉकडाउन में फंस थे 4000 जायरीन, प्रशासन ने शुरू की घर भेजने की कवायद

सोमवार रात निजी वाहनों के माध्यम से जिला प्रशासन व दरगाह कमेटी ने फंसे परिवारों को, भेजने का काम शुरू किया.

अजमेर: लॉकडाउन में फंस थे 4000 जायरीन, प्रशासन ने शुरू की घर भेजने की कवायद
इस दौरान सभी ने दरगाह कमेटी व प्रशासन का शुक्रिया अदा किया.

अजमेर: राजस्थान के अजमेर में दरगाह क्षेत्र में फंसे 4000 से अधिक जायरीन को आखिरकार उनके घर भेजने की कवायद शुरू कर दी गई है. सोमवार रात निजी वाहनों के माध्यम से जिला प्रशासन व दरगाह कमेटी ने फंसे परिवारों को, भेजने का काम शुरू किया.

इसमें से कई परिवार रवाना भी हुए. इस दौरान सभी ने दरगाह कमेटी व प्रशासन का शुक्रिया अदा करते हुए. उन्हें धन्यवाद दिया. गौरतलब है कि, कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के चलते लगाए गए लॉकडाउन (Lockdown) के बीच दरगाह क्षेत्र में 4000 से अधिक जायरीन फंसे हुए थे.

ऐसे में कोरोना वायरस  को बढ़ते देख प्रशासन भी सभी को अपने-अपने घर भेजने की तैयारियां तेज कर रहा है. जिससे कि इस संक्रमण को रोका जा सके. सोमवार रात आईएएस अधिकारी अरविंद संगवा, उपाधीक्षक रजत विश्नोई के साथ ही दरगाह कमेटी के सदस्य व अन्य लोगों की सहायता से, सभी की स्क्रीनिंग व नाम पत्र लेने के बाद, निजी वाहनों के माध्यम से भेजा गया.

अधिकारी ने कहा कि, यह कवायद अब रोजाना की जाएगी और जो लोग यहां से जाना चाह रहे हैं, उनके लिए व्यवस्था दरगाह कमेटी व स्वयं की ओर से की जानी है. वहीं, अजमेर में भी कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. जानकारी के मुताबिक, मंगलवार सुबह 9 बजे तक अजमेर में 11 नए कोरोना के केस सामने आए हैं. जबकि, पूरे राजस्थान में यह आंकड़ा बढ़कर  2328 पहुंच गया है.

राजस्थान में 27 अप्रैल सुबह 9 बजे तक राजस्थान में कोरोना वायरस  के 66 नए पॉजिटिव केस आए हैं. इसमें कोटा में 19, जयपुर में 17, जोधपुर में 13, अजमेर में 11, धौलपुर में 2, सीकर में 1, टोंक में 3 मामले पाए गए हैं. साथ ही, कोटा में एक कोरोना पॉजिटिव मौत का नया मामला सामने आया है. जबकि, राज्य में अब तक कोराना से 51 मरीजों की मौत हो चुकी है.