सीनियर से जातिगत टिप्पणियां झेलने के बाद पुलिसकर्मी ने लिखा पत्र, तब से है लापता...

ज्ञापन में बताया कि आरोप लगाया गया कि एसपी ने लापता कांस्टेबल को अपने कक्ष में बुलाकर जातिगत गालियां देकर अपमानित किया.

सीनियर से जातिगत टिप्पणियां झेलने के बाद पुलिसकर्मी ने लिखा पत्र, तब से है लापता...
जातिगत टिप्पणियां झेलने के बाद पुलिसकर्मी ने लिखा पत्र. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

प्रतापगढ़: राजस्थान के प्रतापगढ़ में एसपी कार्यालय में कार्यरत एक पुलिसकर्मी की ओर से क्वार्टर पर एक पत्र लिखकर लापता होने के मामले में आदिवासी समाज और कई संगठनों ने मिनी सचिवालय पहुंच कर मुख्यमंत्री के नाम एडीएम को ज्ञापन सौंपा.

ज्ञापन में बताया कि आरोप लगाया गया कि एसपी ने लापता कांस्टेबल को अपने कक्ष में बुलाकर जातिगत गालियां देकर अपमानित किया. जिसके कारण पुलिसकर्मी महेश कुमार मीणा अपने सरकारी क्वाटर पर एक पत्र छोड़कर मंगलवार को दोपहर बाद से गायब हो गया. जिसकी अभी तक कोई जानकारी नहीं मिल पा रही है.

ज्ञापन में कांस्टेबल की तुरंत तलाश करने के साथ ही इस पूरे मामले की जांच कर दोषी अधिकारियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही करने की मांग की. विभिन्न संगठनों की ओर से चेतावनी देते हुए कहा गया कि कांस्टेबल महेश कुमार मीणा को अगले 24 घण्टे में तलाश कर परिवार को सुपुर्द नहीं किया गया तो आदिवासी समाज और कर्मचारी संगठनों की ओर से एसपी कार्यालय का घेराव कर आंदोलन किया जाएगा.

ज्ञापन देने के दौरान लोगों ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. इस दौरान बड़ी संख्या में पुलिस का जाब्ता लगाया गया था. जिसमे प्रतापगढ़ जिले सहित बांसवाड़ा और अन्य जिलों के भी कई पुलिस अधिकारियों को लगाया गया था. ज्ञापन में एसपी कार्यालय में मौजूद दो पुलिसकर्मियों पर भी आरोप लगाते हुए उन पर कारवाई की मांग की गई.