राजस्थान: HC के आदेश के बाद नगर निगम चुनाव को लेकर हलचल तेज, BJP बोली...

अगले महीने प्रदेश के 3 बड़े संभाग मुख्यालयों पर नगर निगम चुनाव होना तय हो गए हैं. हाईकोर्ट ने चुनाव आगे खिसकाने की सरकार की अर्जी खारिज कर दी.

राजस्थान: HC के आदेश के बाद नगर निगम चुनाव को लेकर हलचल तेज, BJP बोली...
अदालत ने अब चुनाव की तारीख और आगे बढ़ाने की मंजूरी नहीं दी.

जयपुर: राजस्थान में नवगठित 6 नगर निगम में चुनाव 31 अक्टूबर से पहले ही करवाने होंगे. हाईकोर्ट (High Court) ने इस बारे में साफ कर दिया है कि अब चुनाव की तारीख और आगे बढ़ाने की मंजूरी नहीं दी जाएगी. इसके बाद बीजेपी (BJP) और कांग्रेस (Congress) में हलचल तो होने लगी है, लेकिन बीजेपी ने सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) के साथ चुनाव कराने को लेकर सरकार की कोशिशों पर आशंका जताई है.

दरअसल, अगले महीने प्रदेश के 3 बड़े संभाग मुख्यालयों पर नगर निगम चुनाव (Nagar Nigam Election) होना तय हो गए हैं. हाईकोर्ट ने चुनाव आगे खिसकाने की सरकार की अर्जी खारिज कर दी. इसके बाद जयपुर, जोधपुर और कोटा के 6 नगर निगमों में अक्टूबर में चुनाव होंगे. लेकिन इन चुनावों से पहले बीजेपी ने आशंका जताते हुए कहा कि पंचायत चुनाव (Panchayat Chunav) में जिस तरह सोशल डिस्टेंसिंग नहीं दिखी, वैसी ही आशंका प्रशासनिक मशीनरी के लचर रवैए को लेकर नगर निगम चुनाव में भी बनी हुई है.

बीजेपी (BJP) के प्रदेश मुख्य प्रवक्ता रामलाल शर्मा ने कहा कि पंचायत चुनाव के दौरान कोरोना (Corona) से बचने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग के पालन का निर्देश राज्य निर्वाचन आयोग ने दिए थे. लेकिन इसे फील्ड में पूरी तरह फॉलो नहीं किया गया.

प्रशासनिक मशीनरी के रवैए को लेकर अपनी आशंकाओं के बीच बीजेपी की चुनावी तैयारियों पर रामलाल शर्मा ने कहा कि बीजेपी का संगठन कार्यकर्ता आधारित है और वह हमेशा चुनाव के लिए तैयार रहती है. उन्होनें कहा कि शीर्ष नेतृत्व के स्तर पर जल्द ही जिला और मंडल स्तर पर कमेटियां बनाई जाएंगी और प्रत्याशियों के पैनल बनाने का काम भी शुरू होगा.

इधर, सरकार भी हाईकोर्ट के आदेश के बाद चुनाव कराने के लिए तैयार दिख रही है. यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने कहा है कि कोर्ट ने कहा है तो चुनाव समय सीमा में कराने ही होंगे. हालांकि, तैयारियों के साथ ही सरकार के स्तर पर इस मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) जाने की संभावनाओं पर भी विचार किया जा रहा है.