जयपुर: बारिश ने खोल दी सिस्टम की पोल, सड़कें बनी दरिया

पिंकसिटी में करीब डेढ घंटे तक आसमान से बरसी रहमत को सरकारी सिस्टम की खामी ने आफत में बदल दिया.

जयपुर: बारिश ने खोल दी सिस्टम की पोल, सड़कें बनी दरिया
आज फिर करतारपुरा नाले के बाहर कार फंस गई, लेकिन आयुष के बहने के बाद लगाई रैलिंग ने दंपत्ति की जान बचाई.

जयपुर: पिंकसिटी में करीब डेढ घंटे तक आसमान से बरसी रहमत को सरकारी सिस्टम की खामी ने आफत में बदल दिया. पिंकसिटी में हुई बारिश से बिगडे हालात बताने के लिए काफी है कि हम कुदरत के तोहफे को कबूल करने की कितनी हैसियत रखते हैं.

बीते कई दिनों से सूरज की तपिश झेल शहर को झमाझम बरसात राहत दी. इस दौरान लोगों के चेहरे तो खिले लेकिन जगह-जगह जलभराव ने मुसीबत खड़ी कर दीं. पॉश कालोनी के घरों और बाजार की दुकानों के साथ सरकारी दफ्तरों में पानी घुस गया. सडक़ों, निचले इलाकों और कई कॉलोनियों तक में जलभराव की समस्या से लोगों को दो-चार होना पड़ा. 

ये भी पढ़ें: ग्रह-नक्षत्रों नहीं, इस रक्षाबंधन चलेगी बहनों की मर्जी, सालों बाद आया है शुभ संयोग

शहर में आई बारिश ने नाला सफाई और ड्रेनेज सिस्टम की पोल खोल दी है. बारिश का नालियों से निकलकर पानी सड़कों पर बह निकला, देखते ही देखत सड़कें दरिया बन गई. शहर में कई जगहों पर पानी भर गया. कॉलोनियां दरिया बन गई. बारिश थमने के साथ ही कंट्रोल रूम में लगातार जलभराव की शिकायतें आने लग गई.

जयपुर में रामगढ़ मोड, जलमहल रोड पर घुटनों तक पानी जमा हो गया. लो-फ्लोर बसों में बारिश का पानी भर गया. सुबह से बारिश का दौर जारी रहा, जिसके चलते नाले पर बहाव तेज  हो गया और आज फिर हादसा होते-होते बच गया. 

आज फिर करतारपुरा नाले के बाहर कार फंस गई, लेकिन आयुष के बहने के बाद लगाई रैलिंग ने दंपत्ति की जान बचाई. आस पास के लोगों ने कार में फंसी दंपत्ति को सुरक्षित बाहर निकाला. अभी भी कार पानी में फंसी हुई है. फ़िलहाल पुलिस ने कतरापुरा नाले की तरफ जाने वाले रास्ते बेरिकेडिंग लगाकर बंद कर दिए हैं.

ये भी पढ़ें: कोविड संकट के बीच CM गहलोत ने PM मोदी को लिखा पत्र, की ये मांग...