close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कृषि विभाग के अधिकारी ने सीनियर असिसटेंट डायरेक्टर पर लगाया भ्रष्टाचार का आरोप

डॉ. राजपाल ने इसकी शिकायत कृषि विभाग के आला अधिकारियों के अलावा प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री से की है.

कृषि विभाग के अधिकारी ने सीनियर असिसटेंट डायरेक्टर पर लगाया भ्रष्टाचार का आरोप
कृषि विभाग के कृषि अधिकारी से लेकर उप निदेशक तक के सभी विवादों में आ गए है.

झुंझुनूं: प्रदेश के कृषि विभाग में वैसे तो सबकुछ ठीक चल रहा है. लेकिन विभाग के अधिकारियों में आपसी मनमुटाव के कारण आजकल कृषि विभाग चर्चा में आ गया है. खबर के मुताबिक झुंझुनूं के कृषि विभाग में अधिकारी डॉ. राजपाल झाझडिय़ा ने अपने सीनियर सहायक निदेशक डॉ. विजयपाल कस्वां व उनकी पत्नी कृषि अधिकारी सुमन पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है.

डॉ. राजपाल झाझडिय़ा के मुताबिक निदेशक डॉ. विजयपाल कस्वां व उनकी पत्नी सालों से झुंझुनूं में जमे हुए है. साथ ही वे विभाग में जमकर भ्रष्टाचार कर रहे हैं. विरोध करने पर निदेशक डॉ. विजयपाल कस्वां ने उन्हें झुंझुनूं से तबादला करने की बात कही. बाद में डॉ. विजयपाल कस्वां ने उनका तबादला एक महीने में ही चूरू करवा दिया.

अब डॉ. राजपाल ने इसकी शिकायत कृषि विभाग के आला अधिकारियों के अलावा प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री से की है. जिसके बाद सीकर से जांच करने टीम आई. इसमें मुख्य रूप से शिकायत यह थी कि सहायक निदेशक और उसकी पत्नी सहित परिवार सरकारी आवास में पिछले चार सालों से रह रहा है. साथ ही एचआरए का भी लाभ ले रहे हैं.

जांच टीम जब झुंझुनूं पहुंची तो उसके कुछ घंटे पहले ही उप निदेशक ने सरकारी आवास सहायक निदेशक को एलर्ट कर दिया. जब जांच टीम इस आवास पर पहुंची तो सहायक निदेशक का पूरा परिवार और पूरे सामान के साथ वहां मौजूद था. जिन्होंने बताया कि उन्हें यह आवास आज अलॉट हुआ है. लेकिन वे सामान कल ही लेकर आए है.

शिकायत करने वाले डॉ. झाझडिय़ा ने इसे अधिकारियों की मिलीभगत बताया है. साथ ही उन्होंने कहा है कि उन्होंने जब भ्रष्टाचार की शिकायत की है तो उन्हें ना केवल धमकियां मिल रही है. बल्कि उन्हें जान से मारने की कोशिश भी हो रही है.

बहरहाल, इस विवाद से कृषि विभाग में हड़कंप मचा हुआ है. कृषि विभाग के कृषि अधिकारी से लेकर उप निदेशक तक के सभी विवादों में आ गए है. फिलहाल शिकायत के बाद कार्रवाई करते हुए सहायक निदेशक डॉ. विजयपाल का तबादला भी बाड़मेर कर दिया गया है.