close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अजमेर: बाढ़ में घिरे 12 लोगों को बचाब दल ने किया रेस्क्यू, छत पर फंसे थे दो परिवार

भादवा बांध के केचमेंट एरिया में बने खेत के दो मकानों में यह परिवार कल रात हुई तेज बारिश के बाद बाढ़ से घिर गए थे. जिसके चलते परिवारों ने मकान की छत पर अपना आश्रय बना लिया था.

अजमेर: बाढ़ में घिरे 12 लोगों को बचाब दल ने किया रेस्क्यू, छत पर फंसे थे दो परिवार
रेस्क्यू टीम ने परिवारों के 8 पालतू जानवरों को भी रेस्क्यू किया.

हनुमान तंवर/डीडवाना: नागौर के डीडवाना के भादवा गांव में सुबह से फंसे 2 परिवारों को एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमों ने रेस्क्यू कर बाहर निकाल लिया. भादवा बांध के केचमेंट एरिया में बने खेत के दो मकानों में यह परिवार कल रात हुई तेज बारिश के बाद बाढ़ से घिर गए थे. जिसके चलते परिवारों ने मकान की छत पर अपना आश्रय बना लिया था. सुबह परबतसर थानाधिकारी को जब इस मामले की जानकारी मिली तो उन्होंने इसकी सूचना बचाव एवं राहत दल को दी. 

वहीं दिन भर से जारी बरसात की वजह से एनडीआरएफ टीम के साथ पुलिस की टीमों को अभी वहां पर पहुंचना बहुत ही मुश्किल था. ऐसे में कई मुश्किलों का सामना करते हुए राहत दल भादवा गांव पहुंचे. जहां से बाढ़ से घिरे इन परिवारों को एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमों ने मिलकर रेस्क्यू किया. रेस्क्यू टीम ने दोनों परिवारों के कुल 12 सदस्यों के साथ साथ इन किसान परिवारों के 8 पालतू जानवरों को भी रेस्क्यू किया और इनको सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया.

वहीं शनिवार दिन भर खुद जिला कलेक्टर इस मामले पर नजर बनाए हुए थे. पुलिस और प्रशासन का पूरा ध्यान इस मामले पर था. आसपास के 4 पुलिस थानों की पुलिस भी मौके पर थी, लेकिन कड़ी मशक्कत के बाद रेस्क्यू टीम को सफलता मिली. दोनों परिवारों के साथ उनके पालतू जानवरों को भी सुरक्षित बचा लिया गया. 

बता दें कि प्रदेश के नागौर ज़िले में पिछले तीन दिनों से जारी बारिश का दौर आज भी जारी है. जिले में पिछले तीन दिनो से हो रही बारिश का कहर आज भी देखने को मिला. नागौर ज़िले में लगातार हो रही बारिश के चलते नागौर ज़िले की कई स्कूलो के मैदानो में पानी भर गयाक ग्रामीण क्षेत्रों के रास्ते बारिश के पानी से लबालब हो गए जिसका असर लोगों के आने जाने पर हुआ.

नागौर ज़िले में बारिश के चलते मेड़ता रोड, मेड़ता सिटी रेलवे स्टेशन क्षेत्र की पटरियों भी पानी से डूब गई. जिसका असर रेल यातायात पर भी पड़ा. ज़िले में भारी बारिश की सम्भावनाओ के चलते नागौर जिला कलेक्टर दिनेश यादव ने नागौर ज़िले की सभी स्कूलों में दो दिनों के अवकाश की घोषणा कर दी. बारिश को लेकर किसी प्रकार की कोई जन हानि की बात सामने नहीं आई है.

जबकि कई इलाकों में तो कमर तक पानी बह रहा है इसके चलते लोगों का घर से बाहर निकलना भी दूभर हो गया है. बारिश के चलते तमाम दुकानें बंद है और कई इलाकों में तो कर्फ्यू जैसे हालात बने हुए हैं. लगातार हो रही बारिश के बाद जिला प्रशासन ने भी अलर्ट जारी कर दिया है.