close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अजमेर: जेएलएन अस्पताल में पानी भरने से हालात हुए विकट, प्रसाशन बेखबर

संभाग के सबसे बड़े जेएलएन अस्पताल में अव्यवस्थाओं वह गंदगी का अंबार है, लेकिन बारिश ने अस्पताल की हालत और दयनीय बना दी है.

अजमेर: जेएलएन अस्पताल में पानी भरने से हालात हुए विकट, प्रसाशन बेखबर
मरीजों को भी इसी हालत में अस्पताल आना पड़ रहा है.

अशोक सिंह भाटी/अजमेर: राजस्थान के अजमेर संभाग का सबसे बड़ा जेएलएन अस्पताल इन दिनों जलभराव की समस्या से बेहाल है. हर साल बारिश के दौरान जेएलएन अस्पताल में पानी भरने के कारण हालात विकट होते जाते है. लेकिन इस बार तो बारिश के पानी के कारण अस्पताल में मछलियों, मच्छरों और वन्य जीव जंतुओं ने अपना डेरा जमा लिया है. जिसके कारण यहां पहुंचने वाले मरीज नई बीमारियों को लेकर अपने साथ जा रहे हैं.

वैसे आजादी के बाद बनाए गए संभाग के सबसे बड़े जेएलएन अस्पताल में अव्यवस्थाओं वह गंदगी का अंबार है, लेकिन बारिश ने अस्पताल की हालत और दयनीय बना दी है. अस्पताल के हालात कितने विकेट हो गए की अब बारिश के पानी में मछलियां तैरने लगी हैं. अस्पताल के आधे हिस्से में बारिश के चलते गंदगी और कीचड़ का अंबार लगा हुआ है. वहीं मरीजों को भी इसी हालत में अस्पताल आना पड़ रहा है.

अस्पताल के हालात देखकर यह साफ कहा जा सकता है कि प्रशासन इन समास्याओं को लेकर सजग नहीं है. वहीं हर साल आने वाली बारिश से जैसे-तैसे निबटने वाले जेएलएन अस्पताल प्रशासन की इस बार एक न चली. बिजली यंत्र हो या फिर पानी की सप्लाई देने का स्थान सभी स्थानों पर बारिश के पानी तबाही मचा दी है. घुटनों तक पानी भरा हुआ है. वहीं ऐसे हालातो में भी कर्मचरियों को अपना काम करने पर मजबूर होना पड़ रहा है. कर्मचारियों का कहना है कि कई बार इसकी शिकायत प्रशासन को लिखित में दी गई लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई.

जेएलएन अस्पताल के बिगड़े हालातों को लेकर अधीक्षक अनिल जैन से बातचीत की गई तो उन्होंने कहा कि यह समस्या 3 से 4 साल से चली आ रही है. इसको लेकर कई बार सरकार व पीडब्ल्यूडी विभाग को अवगत कराया गया लेकिन इस बार बारिश अत्यधिक होने के चलते ड्रेनेज सिस्टम बिल्कुल फेल हो गया. जिसके कारण अस्पताल में मौजूद कर्मचारी डॉक्टर व मरीज के साथ परिजनों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. हालांकि अभिषेक स्मार्ट सिटी योजना में लाने का प्रयास किया जा रहा है, जिससे कि अस्पताल के हालात सुधर सके. 

राजस्थान में अजमेर में भले ही अच्छी बारिश से लोग खुश हो लेकिन संभाग के सबसे बड़े जेल अस्पताल में बरसात परेशानी का सबब बनी हुई है. समय रहते यदि हालात को सुधारा नहीं गया तो अस्पताल खुद बीमारियां बांटने लगेगा जिसका नुकसान सम्भाग भर से इलाज के लिए यहां आने वाले मरीज़ो को होगा.